बदमाशों ने गार्ड को बंधक बनाकर एटीएम तोड़कर लूटा 6 लाख से ज्यादा कैश

पानीपत (कौशिक) - शहर में जीटी रोड पर संजय चौंक के पास स्थित सिंडिकेट बैंक की एटीएम को छेनी व हथोड़े से तोड़कर शनिवार की रात को तीन बदमाश गार्ड को गन प्वाईट पर बंधक बनाकर एटीएम से करीब 6 लाख 19 हजार रूपये लूट कर कार से फरार हो गए। बदमाशों के जाने के उपरांत गार्ड ने फोन पर पुलिस व सहायक बैक मैनेजर को सूचना दी। वहीं पुलिस की कई टीमें तुरंत मौके पर पहुंच गई और बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है।

बैंक का सर्वर डाउन होने से अभी तक एटीएम से एक्चूएल रूपये लूटे जाने की जानकारी बैंक अधिकारियों को नहीं मिल पाई है। हालांकि बैंक मैनेजर किशन लाल का कहना है कि 21 जून को एटीएम में 8 लाख 29 हजार रूपये थे और शुक्रवार व शनिवार रात तक करीब डेढ से दो लाख रूपये निकले होंगे तो उस वक्त एटीएम में 6 लाख 19 हजार रूपये हो सकते है। जानाकारी के अनुसार शनिवार रात को सिंडिकेट बैंक की एटीएम पर अंकित गार्ड की नाईट डयूटी थी। करीब 10.48 पर दो नकाबपोश युवक अंदर आए और आते ही एक ने उसके उपर देसी पिस्तौल तान दी और दूसरे ने एटीएम का शटर बंद कर दिया। दोनों बदमाशों ने कहा कि अपनी जान प्यारी है तो चुपचाप कौने में बैठो रहो नहीं तो गोली मार देंगे।

उन्होंने उसके हाथ भी टेप से बांध दिए और एटीएम के कैमरों पर भी टेप लगा दी। अंकित गार्ड ने बताया कि उन्होंनें पेंचकश से एटीएम का लॉक खोलने का प्रयास किया पर नहीं खुला तो उन्होंने अपनी साथी जोकि कपिल नाम ले रहे थे, उसे औजारों का बैग लेकर अंदर बुलाया। वह युवक औजारों का बैग लेकर आधा शटर खोलकर अंदर आया और तुरंत वापस चला गया। वहीं दोनों बदमाशों ने करीब एक घंटे में एटीएम को तोड़कर उसके कैश बाक्स निकाले। उनमें से दो बाक्स तो खाली मिले ओर दो में कैश था। लूटेरों ने जल्दी से कैश को बैग में डाला और फरार हो गए। वहीं दोनो बदमाश बाहर कार में बैठे अपने साथी से बाहर की सारी जानकारी फोन पर ले रहे थे। 

बताया जा रहा है कि सफेद रंग की करेटा गाड़ी में तीनो बदमाश फरार हो गए। वहीं बदमाशों के जाने के उपरांत गार्ड अंकित बाहर निकला और पुलिस व सहायक मैनेजर रामलाल को सूचना दी गई। वहीं पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू कर दी गई है। वहीं बैंक के सीसीटीवी कैमरों में दोनों बदमशों की अंदर आते हुए की सीसीटीवी फूटेज है और बाद में उन्होंने अंदर आते ही कैमरों पर टेप लगा दी थी। वहीं पुलिस ने मामला दर्ज लूटेरों की तलाश शुरू कर दी गई है। वहीं बैंक मैनेजर किशनलाल व सहायक मैनेजर रामलाल का कहना है कि बैक का सर्वर हैंग है और सर्वर के ठीक होते ही जानकारी मिल जाएगी कि एटीएम में कितने रूपये थे।