भारतीय लुलु समूह के प्रमुख MA यूसुफ अली के हैलीकॉप्टर की केरल में क्रैश-लैंडिंग

कोच्चि (उत्तम हिन्दू न्यूज): केरल में भारतीय लुलु समूह के प्रमुख एमए यूसुफ अली और उनकी पत्नी को ले जाने वाले एक हेलीकॉप्टर की रविवार को केरल यूनिवर्सिटी ऑफ फिशरीज एंड ओशन स्टडीज के पास पनांगड में क्रैश लैंडिंग हुई। अस्पताल के अधिकारियों के अनुसार सभी लोग सुरक्षित हैं। बताया जा रहा है कि हेलीकॉप्टर में यूसुफ और उसकी पत्नी के अलावा तीन और लोग सवार थे। हेलीकॉप्टर सुबह एक रिहायशी इलाके के दलदल में उतरा और चूंकि यह एक एकांत क्षेत्र था इसलिए बड़ी दुर्घटना नहीं हुई। सूत्रों के अनुसार तकनीकी खराबी के कारण हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ।

Emergency landing of helicopter from Abu Dhabi businessman Yusuf Ali MA in Ernakulam

अस्पताल के अनुसार, कोई भी घायल नहीं हुआ। अस्पताल में डॉक्टरों ने बताया कि सभी को निगरानी में रखा जा रहा है। बताया जा रहा है कि जब यूसूफ अली और अन्य लोग कदवंतरा के लखोरे अस्पताल के रास्ते में थे, वो अपने एक रिश्तेदार को देखने के लिए जा रहे थे जब ये दुर्घटना हुई।

लुलु में मार्केटिंग एंड कम्युनिकेशंस के निदेशक वी नंदकुमार के अनुसार, पायलट और को-पायलट के साथ युसफाली, उनकी पत्नी शबीरा और निजी सचिव शाहिद पीके सुरक्षित हैं। बताया गया है कि पायलट ने बारिश का मौसम होने के चलते आपातकालीन लैंडिंग कवाई है।

उन्होंने कहा कि कुछ स्थानीय मीडिया ने बताया कि यह क्रैश-लैंडिंग नहीं थी। बारिश के कारण, पायलट ने अनुमान लगाया कि हेलीकॉप्टर आगे उड़ान नहीं भर सकता है और उसने यात्रियों और क्षेत्र के निवासियों की सुरक्षा को देखते हुए खाली जमीन में उतारने का विकल्प चुना। नंदकुमार ने कहा कि यूसुफ अली और उनकी पत्नी रमजान से पहले निजी यात्रा पर थे। उन्हें लेकशोर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बताया गया है शुक्रवार को अबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान और यूएई सशस्त्र बलों के डिप्टी सुप्रीम कमांडर ने यूसुफ और 11 अन्य लोगों को अबू धाबी पुरस्कार से सम्मानित किया था। यूएई में खेल, संस्कृति, चैरिटिबल और सामुदायिक आधारित प्रोजेक्ट सहित राष्ट्रीय पहलों और इवेंट के उनके समर्थन के लिए उन्हें मान्यता दी गई थी।