फिर डराने लगा कोरोना: छत्तीसगढ़ के कई जिलों में लॉकडाऊन, यूपी में 30 तक स्कूल बंद-दिल्ली में 24 घंटों में 10 हजार नए मरीज

रायपुर/लखनऊ (उत्तम हिन्दू न्यूज): कोरोना के दोबारा शुरू  हुए कहर के बीच कई राज्यों ने सख्त पाबंदियों संबंधी आदेश जारी कर दिए हैं। इसी कड़ी में  उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुये राज्य सरकार ने कक्षा एक से 12 तक के सभी सरकारी और निजी स्कूलों को 30 अप्रैल तक बंद किये जाने की आज घोषणा की । इस अवधि में सभी कोचिंग संस्थान भी बंद रहेंगे। उधर, छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते संक्रमण के बीच 3 जिलों में लॉकडाऊन लगाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। कुछ मीडिया रिपोट्र्स में इन जिलों की संख्या 7 बताई जा रही है। इन जिलों में बिलासपुर, सरगुजा और सूरजपुर जिले शामिल हैं। बिलासपुर में जहां 14 अप्रैल से लॉकडाउन लगेगा, वहीं सूरजपुर और सरगुजा में 13 अप्रैल से ही पूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। आदेश के मुताबिक इस दौरान सिर्फ इमर्जेंसी सेवाओं की ही छूट दी जाएगा। लोगों की आवाजाही पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी।

चौथी लहर खतरनाक: केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली में बीते 24 घंटे में कितने मामले आए और शनिवार को राजधानी में जो पाबंदियां बढ़ाई गई हैं उन्हें लेकर जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली में कोरोना बहुत तेजी से बढ़ रहा है और बीते 24 घंटे में 10732 केस आए हैं जो अब तक सबसे ज्यादा है। दिल्ली में कोरोना की शुरुआत से लेकर आज तक इतने मामले नहीं आए थे जितने बीते 24 घंटे में आए हैं। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना की चौथी लहर बेहद खतरनाक है और बहुत तेजी से लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं।  

CM Arvind Kejriwal on lockdown says we should do vaccination faster  coronavirus | Delhi में Corona से हालात बेकाबू, CM Arvind Kejriwal ने कहा -  Lockdown समाधान नहीं | Hindi News, देश

योगी आदित्यनाथ ने की कोविड 19 की स्थिति की समीक्षा
उधर, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज यहां अपने सरकारी आवास पर बैठक में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए ‘टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट’ के लक्ष्य को निरन्तर ध्यान में रखते हुए प्रभावी प्रयास किए जाएं। कोविड-19 की टेस्टिंग में वृद्धि की जाए। उन्होंने कहा कि कोविड चिकित्सालयों में चिकित्साकर्मियों, आवश्यक औषधियों, मेडिकल उपकरणों तथा बैकअप सहित ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखी जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि एल-2 तथा एल-3 कोविड चिकित्सालयों में वेन्टिलेटर्स तथा हाई फ्लो नेजल कैन्युला (एच0एफ0एन0सी0) की उपलब्धता अवश्य रहे। वेन्टिलेटर्स एवं एच0एफ0एन0सी0 की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखने के लिए लगातार समीक्षा करते हुए आवश्यकतानुसार अतिरिक्त प्रबन्ध किए जाएं। उन्होंने लेवल-2 तथा लेवल-3 के बेड की संख्या में वृद्धि करने के निर्देश भी दिए।

COVID-19: CM Yogi Adityanath to hold meeting today at 7:30 pm - details here

मुख्यमंत्री ने लखनऊ, कानपुर नगर, वाराणसी तथा प्रयागराज में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी रणनीति बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिन जनपदों में प्रतिदिन कोरोना के 100 या उससे अधिक केस मिल रहे हैं अथवा जहां कुल एक्टिव केसों की संख्या 500 से अधिक है, ऐसे जनपदों में रात्रि 09 बजे से सुबह 06 बजे तक कोरोना कफ्र्यू लगाया जाए।

प्रदेश में कक्षा 01 से कक्षा 12 तक के सभी सरकारी तथा गैर सरकारी विद्यालयों को 30 अप्रैल तक बन्द रखा जाए। पूर्व निर्धारित परीक्षाएं आयोजित की जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि इस अवधि में कोचिंग सेन्टर्स भी बन्द रहेंगे। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सभी जनपदों में पी0पी0ई0 किट, एन-95 मास्क, पल्स आक्सीमीटर, इन्फ्रारेड थर्मामीटर, सेनिटाइजर, एन्टीजन किट सहित सभी आवश्यक सामग्री की पर्याप्त व्यवस्था की जाए। इस सम्बन्ध में किसी भी जनपद से से मांग प्राप्त होने पर तत्काल आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। सभी विभागों के कार्मिकों को आवश्यकतानुसार कोविड प्रबन्धन के कार्यों से जोड़ा जाए। युवक मंगल दल, महिला मंगल दल, सिविल डिफेंस, एन0सी0सी0 तथा एन0एस0एस0 के सदस्यों की भी सेवाएं प्राप्त की जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण में स्वच्छता व सेनिटाइजेशन की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके दृष्टिगत नगर विकास एवं ग्राम्य विकास विभागों द्वारा शहरी और ग्रामीण इलाकों में स्वच्छता और सेनिटाइजेशन का कार्य मिशन मोड पर किया जाए। उन्होंने कहा कि स्वच्छता व सेनिटाइजेशन के कार्य से कोविड-19 को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी, वहीं दूसरी ओर यह डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया तथा जे0ई0 की रोकथाम में भी उपयोगी होगा।