Saturday, April 20, 2019 08:03 AM

सीएसआर कोष के जरिए राज्य के विकास में योगदान करें उद्योग: योगी

लखनऊ (उत्तम हिन्दू न्यूज): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औद्योगिक घरानो से अपील की कि कारपाेरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (सीएसआर) कोष के जरिये वे राज्य के चर्तुमुखी विकास में योगदान दें। उन्हाेने दावा किया कि शौचालयों के निर्माण में रिकार्ड बनाने के अलावा प्रधानमंत्री आवास के निर्माण में उपलब्धि हासिल करने में सीएसआर की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। मुख्यमंत्री ने कहा “ खुले में शौच मुक्त और स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने में सीएसआर कोष ने अहम भूमिका निभायी है।

इसके अलावा स्वास्थ्य चिकित्सा,पर्यटन और शिक्षा के क्षेत्र में भी सीएसआर सहायक रहा है। देश का एक बड़ा राज्य होने के नाते उत्तर प्रदेश में जनसुविधाओं की जरूरत भी बडी है। इसलिये उद्योगों को सीएसआर कोष के जरिये राज्य की प्रगति में अपना योगदान देना चाहिये।”उन्होने कहा कि पिछले 16 महीनों के दौरान राज्य में एक करोेड़ 35 लाख शौचालयों का निर्माण किया गया है जिनमे से 90 लाख शौचालय इसी साल बनाये गये। राज्य के शहरी और ग्रामीण इलाकों में 15 लाख प्रधानमंत्री आवास निर्माणाधीन है।

विभिन्न उद्योग संघों द्वारा लोकभवन में आयोजित सीएसआर कान्क्लेव का उदघाटन करते हुये योगी ने साफ किया कि राज्य को खुले में शौच मुक्त निर्धारित समयावधि में करने के लिये सरकार कटिबद्ध है। सरकार ने 59 हजार गांवों में शौचालयों के निर्माण के लिये ढाई लाख राजमिस्त्रियों को प्रशिक्षित किया है। शौचालयों के निर्माण कार्यों की देखरेख के लिये स्वयंसेवकों की नियुक्ति की गयी है।

देश की सबसे बड़ी और तेज WhatsApp News Service से जुड़ने के लिए हमारे नंब 7400023000 पर Missed Call दें। इस नंबर को Save करना मत भूलें।