चिकनी नदी में छोड़ा दूषित पानी लोगों ने प्रदूषण बोर्ड को दी शिकायत

नालागढ़ (अनिल कपूर): सोमवार को चिकनी नदी में दूषित पानी छोड़ा गया और पानी पूरी तरह से प्रदूषित हो गया। लोगों ने इसकी सूचना प्रदूषण बोर्ड के अधिकारियों को दी। सूचना मिलते ही बोर्ड के अधिशाषी अभियंता प्रवीण गुप्ता स्वयं मौके पर आए और उन्होंने यहां पर खड्ड से आधा दर्जन सैंपल लिए।

बता दें कि इस नदी में यह पहली बार दूषित पानी नहीं छोड़ा गया है इससे पहले ही कई बार पानी छोड़ा गया जिससे नदी में रहने वाले जीव जंतु व मछलियां मर गई। कुछ उद्योग बारिश आने की आड़ में कैमिकल युक्त पानी छोड़ देते है। किसान कृष्ण सिंह, सुच्चा सिंह, साध राम, सर्वजीत सिंह, सदा राम, अवतार सिंह, हरबंस सिंह, प्रकाश चंद पपू, रविन्द्र सिंह, भरपुर सिंह, नरेश चौधरी ने बताया कि चिकनी नदी में दूषित पानी छोड़े जाने से लोग कैंसर जैसी गंभीर बिमारियों का शिकार हो रहे है। चिकनी नदी पर आधा दर्जन जल शक्ति बोर्ड की सिंचाई योजनाएं है यह पानी लोगों के खेतों में भी जा रहा है जिससे किसानों को फसलें खराब हो रही है।

जिस कंपनी की लापरवाही सामने आई, कार्रवाई होगी
उधर, प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के अधिशाषी अभियंता प्रवीण गुप्ता ने बताया कि सूचना मिलते ही चिकनी नदी के साथ विभिन्न स्थानों से लिए सैंपल भरे गए है। सैंपल जांच के लिए लैब में भेजे जाएंगे। जांच के बाद जिस भी कंपनी की लापरवाही पाई जाती है उसके खिलाफ स त कारवाई अमल में लाई जाएगी।