बुद्ध के विचारों से जुड़ें युवा : मोदी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भगवान बुद्ध के आदर्शों को दुनिया के समक्ष मौजूदा चुनौतियों के स्थायी समाधान का मार्ग बताते हुए शनिवार को युवाओं से उनके विचारों से जुड़ने की अपील की।

बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर पहले वैश्विक ऑनलाइन ‘धम्म चक्र दिवस समारोह’ को वीडियो संदेश के जरिये संबोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा “प्रखर युवा सोच आज वैश्विक समस्याओं के समाधान प्रदान कर रही है। मैं हमारे युवाओं से भगवान बुद्ध के विचारों से जुड़ने का आह्वान करता हूँ। वे आपको प्रोत्साहित करेंगे और आगे की राह दिखायेंगे। आज दुनिया के समक्ष कई असाधारण चुनौतियाँ हैं। भगवान बुद्ध के आदर्शों में हमें इनके स्थायी समाधान मिल सकते हैं।”

उन्होंने कहा कि भगवान बुद्ध के आदर्श कल भी प्रासंगिक थे, आज भी प्रासंगिक हैं और कल भी प्रासंगिक रहेंगे। उनके अष्टांगिक मार्ग कई समाजों और देशों का पथ प्रदर्शन कर रहे हैं। ये करुणा और दया के महत्व को रेखांकित करते हैं। उनकी शिक्षा विचार और कर्म की सरलता को महत्व देती है। बौद्ध धर्म आदर का पाठ पढ़ाता है - आम लोगों, गरीबों, महिलाओं, शांति और अहिंसा के आदर का पाठ।