कांग्रेस ने 10 विधायकों के भाजपा में शामिल होने की खबर को नकारा

पणजी (उत्तम हिन्दू न्यूज): राज्य कांग्रेस अध्यक्ष गिरीश चोडांकर के अपने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समकक्ष विनय तेंदुलकर पर 'झूठ बोलने' का आरोप लगाने के बाद गुरुवार को भाजपा और कांग्रेस विधायकों के बीच कहासुनी और बढ़ गई।

तेंदुलकर ने बुधवार को दावा किया कि दो सप्ताह पहले कांग्रेस के 10 विधायकों ने भारतीय जनता पार्टी में विपक्षी दल की विधायी इकाई में शामिल होने की इच्छा जाहिर की थी, हालांकि भाजपा की ओर से उनके इस अनुरोध को खारिज कर दिया गया। इस पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए चोडांकर ने कहा कि तेंदुलकर ने जो कुछ भी कहा वह पूरी तरह से झूठ है।

चोडांकर ने कहा, कभी वह कहते हैं कि कांग्रेस के दो विधायक उनके संपर्क में हैं, तो अगली बार कहते हैं कि चार हैं। इसके बाद उन्होंने कहा कि भाजपा विपक्षी दल के किसी भी विधायक के साथ संपर्क में नहीं है और आखिर में उनका सबसे बड़ा झूठ सामने आया कि 10 विधायकों ने भाजपा में शामिल होने की इच्छा जाहिर की थी। 

राज्य कांग्रेस अध्यक्ष ने यह भी कहा, भाजपा बिना झूठ बोले अपना शासन नहीं चला सकती। झूठ बोलना उनकी खूबी बन गई है। वे झूठ के आधार पर चुनाव जीतना चाहते हैं। अपने द्वारा बोले गए झूठों में विनय खुद ही उलझे हुए हैं। पिछले दो सालों में, पांच विधायक, तीन कांग्रेस से और दो महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी, एक क्षेत्रीय राजनीतिक संगठन, जो भाजपा के नेतृत्व वाली गठबंधन का हिस्सा है, भाजपा में शामिल हो गए।