किसान आंदोलन पर कांग्रेस की राजनीति जगजाहिर : किसानों की पैसे व शराब से मदद करो : विधा रानी

जींद/सन्नी मग्गू: किसान आंदोलन का सहारा लेकर  राजनीति कर रही कांग्रेस का असली चेहरा सामने आने लगा है। सत्ता प्राप्ति की लालसा में कांग्रेस तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है। किसान आंदोलन का सहारा लेकर झूठी मदद का दिखावा करके किसानों को अपने पक्ष में करने का प्रयास कर रही है। लेकिन कहते हैं कि सच कभी छिपता नहीं जुबान पर आ ही जाता है। ऐसी ही एक सच कांग्रेस की महिला नेत्री की जुबान से निकल गया। कांग्रेस की जिला कार्यकारिणी की मीटिंग में नरवाना से प्रत्याशी रही विधा रानी ने वर्करों को संबोधित करते हुए कहा कि किसानों के आदोंलन को देखते हुए जितना हो सके किसानों की मदद की जाए। चाहे वो मदद पैसे से  हो या शराब से। उन्होंने ये भी कहा कि जब हमारा सभी गांव में कंट्रोल हो जाएगा तो उसके बाद जींद से एक मजबूत पद यात्रा निकालेंगे। इससे पार्टी को एक नई दिशा मिलेगी। उन्होंने कहा कि जब हम हारे तो हमारा अस्तित्व खत्म हो चुका था। अब ये किसान आंदोलन जो हमें मिला है, जो 26 जनवरी को खत्म हो चुका था, ये किसी न किसी तरह फिर से खड़ा हुआ, इसे अब दोबारा से हमें चलाना है। विधा ने कहा कि इस आंदोलन में हमें हर तरह का दान करना हैं, पैसे रुपये का दान कर सकते हैं, खाने का पीने का जैसे सब्जी, घी, और शराब का भी कर सकते हैं। जिससे जो भी सहयोग होता है करे, इसका फर्क हम सब पर पड़ेगा। गौर हो कि कांग्रेस नेत्री के उपरोक्त बयान वाली कथित वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है।  कांग्रेस की इस बैठक में कांगेस के सफीदों विधायक सुभाष गंगोली,जींद से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे अंशुल सिंगला, राजू लखिना, रमेश सैनी,धर्मपाल प्रधान आदि मौजूद थे।