कांग्रेस और कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार हवाला के काराेबार में लिप्त: भाजपा

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस को भ्रष्टाचार का पर्याय बताते हुए बुधवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस के मुख्यालय और  सोनिया गांधी और राहुल गांधी हवाला के माध्यम से लाखों करोड़ों की रकम किलो, क्विंटल या टन के रूप में लेते रहे हैं।
 
भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने यहां कहा कि कांग्रेस और भ्रष्टाचार एक दूसरे का पर्याय बन चुके हैं। काला धन, हवाला कारोबार और भ्रष्ट सौदे कांग्रेस पार्टी के तीन आधार स्तंभ हैं। उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी लाखों और करोड़ों की रकम को किलोग्राम, क्विंटल और टन के वजन में स्वीकार करती रही है और उनके पास इस बात के सबूत भी हैं। उन्होंने इस बारे में आयकर विभाग के जांच दस्तावेज होने का भी दावा किया तथा मंच से दिखाया और पढ़ कर सुनाया भी। 

डॉ. पात्रा ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि कांग्रेस पार्टी कर्नाटक की राज्य सरकार को एटीएम मशीन के रूप में इस्तेमाल करती है और भारी भरकम कमाई करती है जिसका राजनीतिक उद्देश्य के लिए आैर गांधी परिवार के लिए प्रयोग होता है। उन्होंने आरोप लगाया कि करीब 600 करोड़ रुपए की रकम चांदनी चौक के हवाला कारोबारियों के माध्यम से लायी गयी और यह रकम कांग्रेस पार्टी के दफ्तर एवं सोनिया गांधी और राहुल गांधी के यहां पहुंचायी गयी। 

उन्होंने कहा कि इस बारे में मामला पहले से ही विचाराधीन है। कांग्रेस के नेता तथा कर्नाटक के सिंचाई और चिकित्सा शिक्षा मंत्री डी के शिवकुमार के अावास पर गत वर्ष मारे गये छापों के साथ-साथ दिल्ली में भी कुछ छापे पड़े थे। दिल्ली के कर्नाटक भवन के दो अधिकारियों के यहां मारे गये छापों में सफदरजंग एन्क्लेव एवं कृष्णा नगर के तीन फ्लैटों की चाबियां बरामद हुईं थीं। इन फ्लैटों से आठ करोड़ रुपए नगद बरामद हुआ था और जांच के दौरान एक अधिकारी के इकबालिया बयान से पता चला कि हवाला के जरिये किस प्रकार से पैसा कांग्रेस पार्टी के दफ्तर और उसके नेताअों के घर जाता था। एक अधिकारी डी के शिवकुमार के सचिव की हैसियत से उनके साथ रहता था। 

डॉ. पात्रा ने कांग्रेस अध्यक्ष से सवाल किया कि उनकी पार्टी राफेल और अन्य तमाम प्रकार के झूठे आरोप सरकार पर लगाती रहती है। पर उन्हें स्वयं यह बताना चाहिए कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा नोटबंदी किये जाने पर क्या इसीलिए इतनी तकलीफ पहुंचीं है। उस अधिकारी की स्वीकारोक्ति और कांग्रेस के कार्यालय में नकदी को बोराें में भर कर लाने और नेताअों को दिये जाने के बारे में वह क्या कहेंगे।

Related Stories: