तिरंगे पर महबूबा मुफ्ती का विवादित बयान, बोलीं- जब तक हमारा झंडा वापस नहीं मिल जाता हम दूसरा झंडा नहीं उठाएंगे

05:56 PM Oct 23, 2020 |

श्रीनगर (उत्तम हिन्दू न्यूज): पीडीपी चीफ और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महसूबा मुफ्ती के नजबंदी से रिहा होने के बाद घाटी में सभी राजनीतिक दल हरकत में नजर आ रहे हैं। इस बार महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि जब तक हमारा झंडा वापस नहीं कर दिया जाता हम दूसरा झंडा नहीं उठाएंगे। यानी उन्होंने फिर से एक देश दो झंडे वाली सियासत को आगे करते हुए तिरंगा हाथ में लेने से इनकार कर दिया है।

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने यह बात कही और जम्मू कश्मीर राज्य का झंडा लहराया। बता दें कि धारा 370 हटने के पहले तक कश्मीर में यह झंडा लहराया जाता था। मुफ्ती ने कहा कि हमें तब तक चुनाव लड़ने में दिलचस्पी नहीं है, जब तक केंद्र सराकर जम्मू-कश्मीर राज्य का हक धारा 370 वापस नहीं कर देती। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को बहाल करने तक उनका संघर्ष जारी रहेगा। यही नहीं इस दौरान पीएम मोदी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा की वोट के लिए मुफ्त में वैक्सीन बांटने, धारा 370 की बात की। 

बता दें कि मोदी सरकार ने पिछले साल पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का एलान किया था और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर और लद्दाख में बांट दिया था। पीडीपी और नेशनल कांफ्रेंस इस फैसले का विरोध कर रही है। हाल ही में फारूक अब्दुल्ला ने भी अनुच्छेद 370 को फिर से लागू करने की मांग की थी। उन्होंने कहा था, हमारी लड़ाई जारी रहेगी। चाहे फारूक अब्दुल्ला जिंदा रहे या नहीं। चाहे मंच पर रहे या नहीं रहे। अनुच्छेद 370 को बहाल करने के लिए लड़ाई जारी रहेगी. चाहे मैं फांसी पर चढ़ा दिया जाऊं।