CJI मामला: रंजन गोगोई के खिलाफ जांच की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट के बाहर जुटे प्रदर्शनकारी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के खिलाफ लगे यौन उत्पीड़न के आरोप की स्वतंत्र जांच की मांग को लेकर सोमवार को प्रदर्शनकारी सर्वोच्च न्यायालय परिसर के बाहर एकत्र हुए। बता दें, सर्वोच्च न्यायालय की एक पूर्व जूनियर महिला कर्मचारी ने गोगोई पर यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। 

इस पर सीजेआई गोगोई ने कहा था कि उनके खिलाफ आरोप लगाने वाली और आपराधिक रिकॉर्ड वाली महिला के पीछे बहुत बड़ी ताकत है। साथ ही उन्होंने दावा किया कि न्यायपालिका की स्वतंत्रता खतरे में है। यौन उत्पीडऩ के आरोप लगने की मीडिया रिपोट्र्स के बाद सार्वजनिक महत्व के एक मामले की तत्काल सुनवाई के दौरान गोगोई ने कहा कि जब तक मेरा कार्यकाल समाप्त नहीं हो जाता, मैं इस पीठ में बैठूंगा और बिना डरे और निष्पक्षता के साथ अपना कर्तव्य निभाऊंगा। 

न्यायमूर्ति गोगोई ने कहा कि चीजें बहुत दूर चली गई हैं। न्यायपालिका को बलि का बकरा नहीं बनाया जा सकता। न्यायपालिका को अस्थिर करने की एक बड़ी साजिश है, जो कि अब तक स्वतंत्र बना हुआ है।