132वें दिन में दाखिल हुआ चोलांग टोल प्लाजा का धरना

16 फरवरी को शहीद किसानों और पुलवामा में शहीद हुए जवानों की याद में निकाला जायेगा कैंडल मार्च

टांडा /हरमेश जैन : कृषि कानूनों के खिलाफ नेशनल हाईवे चोलांग टोल प्लाजा पर दोआबा किसान कमेटी की ओर से लगाए गए धरने के 132वें दिन भी किसानों ने मोदी सरकार खिलाफ मोर्चा खोले रखा। इस दौरान किसानों ने कृषि कानूनों खिलाफ संघर्ष को और तेज़ करने के लिए आवाज़ बुलंद की। जत्थेबंदी की ओर से 14 फरवरी को टांडा में किसान संघर्ष दौरान शहीद हुए 200 से अधिक किसानों और पुलवामा के शहीद फौजी जवानों की याद में 14 फरवरी को निकाले जाने वाले कैंडल मार्च के प्रोग्राम को नगर कौंसिल चुनावों के मद्देनजऱ मुल्तवी करते हुए अब यह 16 फरवरी की शाम को सरकारी स्कूल टांडा से निकालने का फैसला किया गया। धरने में शामिल जत्थेबंदी के प्रधान जंगवीर सिंह चोहान के दिशा निर्देशों अधीन लगे इस धरने दौरान किसान नेताओं सतपाल सिंह, गुरमिंदर सिंह, बलबीर सिंह, अमरजीत सिंह, हरनेक सिंह, कमलजीत सिंह, प्रिथपाल सिंह ने कहा कि मोदी सरकार अपने हक की मांगो को लेकर आंदोलन कर रहे देश के किसानों को दबाने के लिए जितनी ताकत लगाएगी किसान उसी मजबूती के साथ इन किसान विरोधी कानूनों को रद्द करवाने तक संघर्ष करते रहेंगे7 इस मौके दारापुर बाईपास गुरुद्वारा साहेब की संगत ने लंगर का प्रबंध किया7 इस मौके हरभजन सिंह, स्वरण सिंह, रतन सिंह, तरलोचन सिंह, अमरजीत सिंह, बलबीर सिंह, गज्जन सिंह, हरदेव सिंह, बलजिंदर सिंह, फ़कीर सिंह, सुखराज सिंह, शीतल सिंह, बंसा कंग, अमृतपाल सिंह, सरूप सिंह, चन्नन सिंह, अमरजीत सिंह, हरजीत सिंह, रघवीर सिंह, सुरिंदर सिंह, चैंचल सिंह, कुलदीप सिंह, सुरिंदर भल्ला, दिलबाग सिंह, मनजिंदर सिंह, गुरदीप सिंह व ईलाके के अन्य किसान उपस्थित थे।