ड्रैगन को भारत की दाे टूक, J-K और लद्दाख के मामले में चीन को हस्तक्षेप का कोई अधिकार नहीं

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के बारे में टिप्पणी के लिए चीन की कड़ी आलोचना करते हुए आज अपने रूख को दोहराया और कहा कि चीन को इस मामले में हस्तक्षेप करने या बोलने का कोई अधिकार नहीं है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने आज साप्ताहिक वर्चुअल ब्रीफिंग में कहा, इस पर हमारा रूख हमेशा स्पष्ट और दृढ है। जम्मू और कश्मीर तथा लद्दाख केन्द्र शासित प्रदेश भारत के अभिन्न अंग रहे हैं, हैं और रहेंगे। चीन को भारत के आंतरिक मामलों में बोलने का कोई अधिकार नहीं है। हमें आशा है कि वे देश भारत के आंतरिक मामलों में टिप्पणी नहीं करेंगे जो दूसरों से यह अपेक्षा करते हैं। 

प्रवक्ता ने कहा कि भारत ने अरूणाचल प्रदेश के बारे में भी अपनी स्थिति अनेक बार स्पष्ट की है। अरूणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न और अविभाज्य अंग है। चीनी पक्ष को उच्चतम स्तर पर यह तथ्य अनेक बारे स्पष्ट शब्दों में बताया जा चुका है। प्रवक्ता से भारत द्वारा हाल ही में सीमावर्ती क्षेत्रों में 44 पुलों का उद्घाटन किये जाने के बाद चीन की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया पूछी गयी थी।