चावला ने महापौर से पूछा अमृतसर शहर इतना बदहाल क्यों

अमृतसर (उत्तम हिन्दू न्यूज): पंजाब भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की वरिष्ठ नेता लक्ष्मीकांता चावला ने अमृतसर शहर की बदहाली को लेकर नगर निगम के महापौर, पार्षदों और अधिकारियों पर इस ओर काई ध्यान नहीं देने का आरोप लगाया है। श्रीमती चावला ने आज यहां जारी एक बयान में कहा कि अमृतसर शहर गंदगी के अम्बार और बदबू है। आवारा कुत्तों की भरमार है। शहर के बाग बगीचे सूख रहे हैं। बीमारियां फैलने का खतरा है। ऐसे में निगम के महापौर, पार्षद और अधिकारी यह बताएं वे इस सम्बंध में क्या कर रहे हैं। उन्होंने महापौर से पूछा कि जो माली शहर के बाग बगीचों की देखभाल करने के लिए नियुक्त किए हैं वे किस-किस अधिकारी और नेता के बंगलों पर काम कर रहे हैं। 

राज्य की पूर्व मंत्री ने कहा कि पांच करोड़ रूपये की लागत से बना गोलबाग अपनी हालत पर रो रहा है। यहां गंदगी के ढेर लगे हैं और बदबू है तथा सारे नए पौधे सूख गए। इसके अलावा महाराजा रंजीत सिंह पैनोरमा की हालत भी दयनीय है। इसका कई वर्षों से एयरकंडीशन सिस्टम बंद है। इसी कारण वहां यात्री और दर्शक आने को तैयार नहीं। इसके साथ ही इसके बाग में भी गंदगी, बदबू और सूखा पड़ा है। उन्होंने कहा कि आधा दर्जन से ज्यादा माली और कर्मचारी जो पैनोरमा के नाम पर नियुक्त किए गए वे वहां से नदारद हैं। भाजपा नेता ने कहा कि महापौर और पार्षदों में थोड़ा अगर साहस है तो वे टेलीफोन एक्सचेंज चौक पर कुछ समय खड़े रह दिखाएं। अगर उस गंदगी भरे वातावरण में ये लोग थोड़ा समय भी रह लेंगे तब शायद इन्हें अहसास होगा कि अमृतसर की कितनी बुरी हालत निगम ने कर रखी है।