बाहरी प्रदेशों के लिए बसों का संचालन केवल 10 प्रतिशत

कुल्लू (उत्तम हिन्दू न्यूज ): परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि जिला में बाहरी देशों और प्रदेशों से सैलानियों की आवाजाही को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। हिमाचल और देश के अन्य राज्यों के बीच बसों का संचालन 90 प्रतिशत कम किया गया है। चण्डीगढ़, दिल्ली तथा हरिद्वार के लिए केवल दो-दो बसों के ही संचालन को अनुमति दी गई है। परिवहन मंत्री शनिवार को मनाली के परिधि गृह में कोरोना वायरस को रोकने के उपायों को लेकर किये गए प्रबंधों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक खुले प्रांगण में आयोजित की गई जहां सभी लोग एक से दो मीटर की दूरी बनाकर बैठे।

गोविंद ठाकुर ने कहा कि कुल्लू-मनाली देश-विदेश के सैलानियों के लिए पसंदीदा स्थल है और इस ओर पर्यटकों का रूख स्वाभाविक है। उन्होंने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी है और इसे रोकने के लिए कुछ कड़े कदम उठाने आवश्यक हैं। उन्होंने कहा कि जिला में सैलानियों की आवाजाही पर 31 मार्च तक पूर्ण प्रतिबंध है और यदा-कदा कोई आ भी रहा है तो उसे बजौरा से वापिस भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि बजौरा में कुल्लू घाटी में प्रवेश करने वाले लोगों की थर्मल स्क्रिनिंग की जा रही है और कोई एक भी संदिग्ध जिला में प्रवेश न करें, इसपर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

‘जनता कफ्र्यू’ का सभी करें समर्थन
वन मंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस की गंभीरता को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को जनता कफ्र्यू का आह्वान किया है। उन्होंने जिला के एक-एक व्यक्ति को इसका समर्थन करने का आग्रह किया है। उन्होंने लोगों से कहा कि वे रविवार को प्रात: 7 बजे से सांय 9 बजे तक अपने घरों में ही रहें, वहीं से कार्य करें। यह सावधानी सभी को बरतनी होगी। सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठान भी बंद रखें जाएं। सायं नौ बजे के बाद भी बाहर न घूमें और घर पर ही रहे। उन्होंने कहा कि एक दिन घर में रहने से व्यक्ति को कोरोना से दूर रहने के लिए वांछित 36 घण्टे का समय मिल जाएगा। इतने समय में कोरोना वायरस को मानव शरीर न मिलने वह वह स्वत: ही समाप्त हो जाएगा। इसकी चेन आगे नहीं बढ़ पाएगी। इसलिए आवश्यक है कि एक-एक व्यक्ति जनता कफ्र्यू का पालन करे।