Wednesday, September 19, 2018 12:42 PM

श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ बीएमएस का धरना

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सहयोगी संगठन भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) ने केंद्र सरकार की श्रमिक विरोधी नीतियों और ‘निश्चित अवधि रोजगार’ की नीति के खिलाफ आज यहां विरोध प्रदर्शन किया। श्रमिक संघ ने अनुबंध पर काम कर रहे कामगारों का शोषण बंद करने और फिक्स्ड टर्म्स इम्प्लायमेंट की अधिसूचना वापस लेने की मांग की। 

बीएमएस दिल्ली प्रदेश के महासचिव अनीस मिश्रा ने कहा कि ‘निश्चित अवधि रोजगार’ श्रमिक और समाज विरोधी है आैर इसकी अधिसूचना तुरंत वापस लेनी चाहिए। केंद्र सरकार लगातार श्रमिकों के हितों के खिलाफ काम रही है और रोजगार सुरक्षा की अवधारणा खत्म होती जा रही है। श्रमिकों ने केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार को एक ज्ञापन भी सौंपा। 

श्रमिक नेताओं ने कहा कि देश में श्रमिक विरोधी माहौल तैयार हो रहा है। सरकार की नीतियां उद्योगपतियों के अनुकूल है जिससे रोजगार सुरक्षा समाप्त हो रही है। उन्होंने कहा कि श्रमिक सुधारों के नाम पर श्रमिकों के हितों पर कुठाराघात हो रहा है। उन्होंने कहा कि अनुबंध पर काम कर रहे सभी श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा निश्चित की जानी चाहिए और उनको न्यूनतम मजदूरी दी जानी चाहिए।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।