भाकियू लड़ेगी टावर लाइन शोषित किसानों की लड़ाई 

बिलासपुर (अरुण डोगरा रीतू): टावर लाइन शोषित किसानो की लड़ाई को अब राष्ट्रीय स्तर पर लडा जायेगा और केंद्र सरकार तक इस लड़ाई को पहुंचा कर इसका समाधान करवाया जायेगा। यह बात भारतीय किसान यूनियन के महासचिव युधवीर सिंह ने जुखाला में बैठे किसानो के अनशन में शिरकत करते हुए कहीं। कृषि बिल के खिलाफ दिल्ली में अनशन कर रहे किसानो के समर्थन में सयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले जुखाला में चल रहे क्रमिक अनशन में बुधवार को भारतीय किसान यूनियन के महासचिव युधवीर सिंह ने पहुँच कर यहाँ के किसानो की मुख्य समस्या टावर लाइन को अपना समर्थन दिया और कहा कि इस लड़ाई को अब भारतीय किसान यूनियन राष्ट्रीय स्तर पर लड़ेगी और केंद्र सरकार के सामने इस मुद्दे को लेकर धरना प्रदर्शन कर इसका समाधान करवाएगी।

दिल्ली में चल रहे धरने को लेकर उन्होंने कहा की बार बार केंद्र सरकार यह कह रही है कि यह धरना मात्र कुछ राज्य का है और इसमें कुछ राज्य के किसान ही भाग ले रहे है। इसलिए वह यहाँ आये है और यहाँ के किसानो को इस कृषि बिल के बारे में बता रहे है ताकि हिमाचल के किसान भी आने वाले समय में दिल्ली पहुँच कर उनका समर्थन करे और केंद्र सरकार को यह एहसास हो की दिल्ली में चल रहा धरना कुछ राज्य का नही बल्कि पूरे देश का है। उन्होंने कहा कि हिमाचल के किसानो ने उन्हें आश्वाशन दिया कि वह उनका साथ देने के लिए दिल्ली आयेंगे और उनके कंधे से कन्धा मिला कर उनका साथ देंगे। बुधवार को जुखाला में चल रहे अनशन में पूर्व मंत्री व श्री नैना देवी जी विधानसभा क्षेत्र के विधायक रामलाल ठाकुर , पूर्व विधायक व हिमाचल किसान सभा के महामंत्री के. के. कौशल , इंटक के प्रदेश उपाध्यक्ष अधिवक्ता भगत सिंह वर्मा , कैप्टन बालक राम शर्मा सहित कई लोगो ने शिरकत कर इस अनशन को अपना समर्थन दिया।

इंटक के प्रदेश उपाध्यक्ष अधिवक्ता भगत सिंह वर्मा ने इस अनशन को अपना समर्थन देते हुए कहा कि हिमाचल के किसानो के साथ जाती हुई है उनको मुआवजा नही दिया गया है और सरेआम बड़े घराने के लोग गैरकानूनी तरीके से यहाँ पर किसानो के साथ धोखाधड़ी कर रहे है जिस पर कोई सुनवाई नही हुई जिसके खिलाफ किसानो ने माननीय न्यायलय में इसके खिलाफ एफ़आईआर दर्ज दर्ज करवाई और वहाँ से इसके खिलाफ आदेश जारी हुए है जिसके बाद भी सरकार और प्रशासन इस तरफ कोई कार्यवाही नही कर रहे है । हिमाचल किसान सभा के महासचिव व पूर्व विधायक के. के. कौशल ने इस अनशन को अपना समर्थन देते हुए कहा कि ट्रांसमिशन लाइन ने बिना अनुमति के हिमाचल में लाखो पेड़ काट दिए है जिसके खिलाफ अलग अलग जिला में एफ़आईआर दर्ज हुई है। अब वह किसानो के हक़ के लिए समिति बना कर इनके मुआवजे की मांग करते है।

श्री नैना देवी जी के विधायक राम लाल ठाकुर ने कहा की वह शुरू से ही किसानो के साथ है उन्होंने कई बार इस मुद्दे को विधानसभा में उठाया है और आगे भी उठाएंगे । यहाँ पर कंपनी की मिली भगत से और केंद्र सरकार के इशारों पर किसानो के साथ काफी ठगी हुई है। जिसके खिलाफ वह किसानो के साथ है और जैसा आदेश किसान करेंगे वह आगे वैसे ही किसानो के साथ चलने को तैयार है।