शनिवार से भाजपा की दो दिवसीय कार्यसमिति बैठक, सामाजिक समरसता पर होगा मंथन

नयी दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) :  भाजपा की शनिवार से शुरू हो रही राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में पार्टी इस बार सामाजिक समरसता पर चिंतन-मंथन करने वाली है। पार्टी सूत्रों से मिली खबर में बताया गया है कि चूकि भारतीय जनता पार्टी सभी वर्गों को लेकर चलने वाली पार्टी है इसलिए यह अपनी योजना भी इसी तरह बनाएगी और पार्टी समाज के सभी वर्गों के लोगों के बीच सामाजिक समरसता का संदेश फैलाने पर जोर देगी। भाजपा के एक नेता ने बताया कि यह बैठक दिल्ली के आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय केंद्र में होगी।

सूत्रों ने बताया कि कार्यकारिणी सभागार का नाम भी अटल के नाम पर होगा और पाटीज़् एक प्रस्ताव पारित कर उन्हें श्रद्धांजलि भी देगी। पार्टी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कायज़्कारिणी की बैठक आंबडेकर केंद्र में होने का मकसद सामाजिक संदेश देने से जुड़ा भी माना जा रहा है। बैठक के स्थल को जोड़कर भाजपा यह संदेश देने का प्रयास करेगी कि उसकी रीति नीति में आंबेडकर उतने ही अहम है जितने दूसरे नेता। बैठक में सरकार की कल्याण योजनाओं और उनके क्रियान्वयन की समीक्षा किये जाने की उम्मीद है।

इसमें किसानों को फसलों के न्यूनतम समथज़्न मूल्य में वृद्धि के सरकार के फैसले, राष्ट्रीय नागरिक पंजी, अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के लोगों के अधिकारों की रक्षा के संदर्भ में उठाये गये कदम, ओबीसी राष्ट्रीय आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के कदम आदि के बारे में भी चर्चा हो सकती है।
 

Related Stories: