पंजाब में भाजपा के संकुचित एजंडे को सफल नहीं होने दिया जाएगा: कैप्टन अमरिंदर

चंडीगढ़ (उत्तम हिन्दू न्यूज): पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर अपने राजनीतिक हितों की पूर्ति के लिए जातिगत आधार पर समाज में दरार पैदा करने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि वह भाजपा को यह संकुचित एजेंडा राज्य पर थोपने नहीं देंगे। भाजपा की कल बिना अनुमति लिए तथाकथित ‘दलित इन्साफ यात्रा’ निकाले जाने पर उन्होंने आज यहां कहा कि चाहे जो भी हो भाजपा को प्रदेश के अमन चैन को बिगाड़ने नहीं दिया जायेगा। यह फूट डालने वाली चालें पंजाब में कभी भी सफल नहीं होंगी क्योंकि यहां के लोग सदियों से मिलजुल कर रहते आये हैं। यही परंपरा आगे भी जारी रहेगी क्योंकि आपसी मेलजोल की पंरपरा उनकेे खून में रची बसी है।

कैप्टन सिंह ने कहा कि भाजपा को दलित अधिकारों की बात करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है जिसको भाजपा अपनी सत्ता के दौरान बेरहमी से रौंद रही है। उन्होंने हैरान करने वाले आंकड़ों की तरफ इशारा किया जो दिखाते हैं कि भाजपा की सत्ता के दौरान उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति के लोगों पर हुए अत्याचार देश में हुए अत्याचारों का 25 प्रतिशत से अधिक हिस्सा है और साल 2018 में ऐसी सबसे अधिक घटनाएँ दर्ज हुई हैं।

उन्होने भाजपा से सवाल किया कि क्या यह आपकी दलितों के लिए न्याय की परिभाषा है जो आप पंजाब की अनुसूचित जातियों को देना चाहते हो। भाजपा क्रूर, किसानी विरोधी और असंवैधानिक खेती कानूनों के सम्बन्ध में पूरी तरह फंस गई है और लोगों का ध्यान भटकाने के एकमात्र उद्देश्य से नाटक और गलत प्रचार करने में व्यस्त है।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने किसानों और अनुसूचित जातियों के विद्यार्थियों को पूरी तरह अनदेखा किया है जिनको भाजपा की केंद्र सरकार ने जानबूझकर केंद्रीय पोस्ट-मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम से हाथ पीछे खींचकर उच्च शिक्षा तक पहुँच से वंचित कर दिया था। भाजपा ने राज्य सरकार की तरफ से अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों के लिए राज्य की स्कॉलरशिप स्कीम की सफलतापूर्वक शुरुआत से घबरा कर यह रैली की। भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की तरफ से दलित विरोधी फ़ैसले के कारण 800 करोड़ रुपए के घाटे के बावजूद, आर्थिक मंदी वाली पंजाब सरकार ने अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों के लिए एक नयी स्कीम डॉ. बी.आर. आंबेडकर एस सी पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप शुरू की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम पंजाबी अपना सब कुछ कुर्बान कर सकते हैं लेकिन देश की एकता और अखंडता की रक्षा के लिये सर्वस्व न्यौछावर कर सकते हैं जैसा पंजाबियों ने आजादी की लड़ाई में करके दिखाया। भाजपा को इसके घातक और घटिया एजंडे को जारी रखने के विरुद्ध चेतावनी देते हुये कहा कि पंजाबी भाजपा की चालों में नहीं आएंगे। इस समय राज्य की विधानसभा में भाजपा के मात्र दो विधायक हैं। भाजपा अपनी स्थिति को मज़बूत करने के लिए ये घटिया हथकंडे अपना रही हैं।