भाजपा-जजपा गठजोड़ मौका परस्त गठबंधन : किरण चौधरी

भिवानी (धामु) - वरिष्ठ कांग्रेसी विधायक नेता किरण चौधरी ने कहा कि प्रदेश में भाजपा-जजपा सरकार एक मतलब परस्त गठबंधन है और दोनों ही दल प्रदेश की जनता को धोखा दे रहे हैं। यह गठबंधन ज्यादा समय चलने वाला नहीं है। यही कारण है कि आज सरकार बनने 15 दिन बाद भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल मंत्रीमण्डल का गठन नही कर  पाए हैं। आज तोशाम के पीडब्ल्यूडी रैस्ट हाऊस प्रांगण में कार्यकर्ताओं के सम्मलेन को सम्बोधित करते हुए किरण चौधरी ने कहा कि दोनों दल मौका परस्त हैं और उन्हें जनता के हितों से कोई लेना देना नहीं है। शीघ्र ही एक बार फिर चण्डीगढ़ में तोशाम का डंका बजेगा। उन्होंने कहा कि विधानसभा में किसानों की पराली का मुद्दा उठाया था और कहा था कि प्रदूषण का ठिकरा किसानों के सिर नही फोड़ा जाना चाहिए और न ही किसान इसके लिए जिम्मेवार हैं।

सरकार किसानों पर मुकदमें बनाकर व जुर्माना लगाकर अपना पीछा छुड़वाना चाहती है। उन्होंने कहा कि किसानों को 100 रूपए च्न्टिल के हिसाब से बोनस दे दो किसान पराली नहीं जलाएगा। उन्होंने विधानसभा ने किसानों के कर्ज माफ करने, युवाओं को प्रदेश में नौकरियों में 75प्रतिशत हिस्सेदारी देने व 51सौ रूपए बुढ़ापा पेंशन देने का मुद्दा उठाया था। लेकिन विधानसभा में हमारी बात नहीं सुनी गई।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि अयोध्या मामले पर जो फैसला आया है वह सराहनीय है और सभी को उसका सम्मान करना चाहिए। भाजपा ने अपने पिछले समय में 154 वादे किए थे जिनमें एक भी पूरा करने का काम नहीं किया और अब दोनों पार्टियों ने लगभग 260 वादे किए हुए जिनमें 11000 बेरोजगारी भत्ता,5100 बुढ़ापा पेंशन व किसानों के कर्ज माफ करने की जो घोषणा है कि वह पूरी होने वाली नहीं है और प्राइवेट सेक्टर में 75 प्रतिशत नौकरियों की बात कर रहे हैं। उघोग तो पहले ही हरियाणा से पलायन कर चुकी हैं नौकरियां कहां से देंगे।