जरूरतमंद लोगों के उत्थान के लिए हिमोत्कर्ष लगातार प्रयासरत : बिंदल

ऊना (रविंद्र तेजपाल): स्वामी विवेकानंद के दिखाए मार्ग पर चलकर हिमोत्कर्ष परिषद गरीब व जरूरमंद लोगों के उत्थान के लिए लगातार प्रयासरत है। यह बात हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने आज एलजेएन हिमोत्कर्ष कन्या महाविद्यालय कोटला खुर्द परिसर में रविवार को आयोजित हिमोत्कर्ष साहित्य, संस्कृति एवं जनकल्याण परिषद के 46वें राज्य स्तरीय वार्षिक अधिवेशन में बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में कही। 

उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने दीन-दुखियों की सेवा को सबसे महान कार्य करार दिया था और इस बात की प्रसन्नता है कि हिमोत्कर्ष परिषद अपने विभिन्न कार्यों के माध्यम से स्वामी विवेकानंद जी के जीवन दर्शन को चरितार्थ कर रही है। डॉ. राजीव बिंदल ने कहा कि परिषद द्वारा राष्ट्रीय एकात्मकता पुरस्कारों से सम्मानित विभूतियां सबके लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। मेधावी छात्रों को सम्मानित करने तथा हिमोत्कर्ष विधवा राशन वितरण कार्यक्रम की भी उन्होंने भरपूर प्रशंसा की। कार्यक्रम में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती तथा एपीएमसी चेयरमैन बलबीर बग्गा ने भी शिरकत की। कार्यक्रम में डॉ. राजीव बिंदल व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने उत्तर भारत की 7 विभूतियों को हिमोत्कर्ष राष्ट्र्रीय एकात्मकता पुरस्कार से सम्मानित किया। पुरस्कार प्राप्त करने वालों में शहीद लै. कर्नल रजनीश परमार को (मरणोपरांत) अमर शहीद कै. अमोल कालिया स्मारक शौर्य पुरस्कार, हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एसपी बंसल को मंदर सिंह राणा स्मारक श्रेष्ठ शिक्षाविद पुरस्कार, केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय के निदेशक डॉ. करतार सिंह धीमान को ई. पंडित राम शर्मा स्मारक श्रेष्ठ आर्यु विज्ञान पुरस्कार, पीजीआई नेत्र रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. सुरेंद्र सिंह पांडव को डॉ. डीआर गर्ग स्मारक उत्कृष्ठ नेत्र चिक्तिसा पुरस्कार, पीटीआई लखनऊ के ब्यूरो प्रमुख सुभाशीष मित्रा को लाला जगत नारायण उत्कृष्ठ पत्रकारिता पुरस्कार, हमीरपुर से पर्यावरणविद आचार्य रत्न लाल वर्मा को स्वर्गीय रोशन लाल शर्मा स्मारक श्रेष्ठ पर्यावरणविद पुरस्कार तथा ऊना जिला के सैंसोवाल गांव की दि सैंसोवाल कृषि सहकारी सभा पंजीकृत को स्वर्गीय प्रोमिला कंवर व ई. मनमोहन सिंह स्मारक श्रेष्ठ संस्था पुरस्कार से अलंकृत किया गया। शहीद लै. कर्नल रजनीश परमार की धर्मपत्नी हिना परमार ने परिषद पुरस्कार प्राप्त किया। 

इसके अलावा विभिन्न कक्षाओं व संकायों में प्रदेश में टॉप करने वाले 41 मेधावी विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल, प्रमाण पत्र व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर हिमोत्कर्ष स्मारिका-2020 का भी विमोचन किया गया। समारोह में हिमोत्कर्ष फ्री राशन वितरण कार्यक्रम के तहत 70 पात्र विधवाओं को 70 हजार रूपये का राशन व एक-एक कंबल प्रदान किया गया। जबकि हिमोत्कर्ष मेधावी छात्रवृत्ति प्रकल्प के तहत 84 विद्यार्थियों को 70 हजार रुपये की नकद छात्रवृत्ति व 122 विद्यार्थियों को रजत पदक व प्रमाण पत्र से सम्मानित किया गया। 

कार्यक्रम में उपायुक्त संदीप कुमार, एसपी दिवाकर शर्मा, एडीसी अरिंदम चौधरी, एएसपी विनोद कुमार धीमान, एसडीएम डॉ. सुरेश जसवाल, प्रदेश पेंशनर्स संघ के अध्यक्ष एचआर वशिष्ठ, कर्नल डीपी वशिष्ठ, शहीद कै. अमोल कालिया के पिता सतपाल कालिया, वरिष्ठ नागरिक संघ के अध्यक्ष जीआर वर्मा, हिमोत्कर्ष परिषद के मुख्य सलाहकार सतपाल शर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष राणा शमशेर सिंह व पूर्ण लाल शर्मा, महासचिव डॉ. रविंद्र सूद, ठाकुर यशपाल सिंह, जितेंद्र कंवर, नरेश सैणी, कर्णपाल सिंह मनकोटिया, प्रेम राजपूत, जय गोपाल शर्मा, प्रो. बीके शर्मा, अशोक ऐरी, निशांत चौधरी, सुरेश कुमार, शशि कुमार, हिमोत्कर्ष महिला मंच अध्यक्ष दीपशिखा कौशल, सचिव पूजा कपिला, उपाध्यक्ष सुमन पुरी, रमा कंवर, डॉ. जागृति दत्ता, पूनम वर्मा, रेखा जसवाल, पूजा शर्मा, रंजू परिषद की प्रदेश कार्यकारिणी के अन्य पदाधिकारी, हिमोत्कर्ष के पदाधिकारी उपस्थित रहे।