कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर बड़ी खबर, इस अनुभवी नेता को मिल सकती है पार्टी की कमान 

04:02 PM Jun 20, 2019 |

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): कांग्रेस अध्यक्ष के चयन को लेकर वर्तमान अध्यक्ष राहुल गांधी ने बड़ा बयान दिया है। राहुल गांधी ने कहा है कि वो कांग्रेस के नए अध्यक्ष के चयन प्रक्रिया में शामिल नहीं हैं। पार्टी ही अगले अध्यक्ष पर फैसला करेगी। राहुल ने कहा, इस प्रक्रिया में शामिल होकर मैं इसे जटिल नहीं बनाना चाहता।' उन्होंने कहा, 'मैं पार्टी में बना रहूंगा और पार्टी के लिए काम करूंगा।' इस बीच चर्चा है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के अध्यक्ष की कमान संभाल सकते हैं।

पिछले महीने लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद इस्तीफे की पेशकश की थी, लेकिन इसे स्वीकार नहीं किया गया था। बाद में राहुल ने पार्टी को नया अध्यक्ष चुनने के लिए एक महीने का वक्त दिया था। लंबे समय से कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर लगाए जा रहे अलग-अलग कयासों पर अब विराम लगने के संकेत मिल रहे हैं। खबर है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत को राहुल गांधी की जगह पार्टी का नया अध्यक्ष बनाया जा सकता है।

कांग्रेस सूत्रों के अनुसार पार्टी ने अशोक गहलोत के नाम पर मोहर लगा दी है और अब औपचारिक ऐलान होना बाकी है। हालांकि अभी तक ये साफ नहीं हो सका है कि अशोक गहलोत अकेले कांग्रेस अध्यक्ष होंगे या उनकी मदद के लिए कई कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाए जाएंगे। कांग्रेस की ओर से अशोक गहलोत के नाम की चर्चा के बाद अब यह भी साफ हो गया है कि कांग्रेस का नया अध्यक्ष गांधी परिवार से नहीं होगा।

हालांकि, इस बारे में अभी पार्टी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि कांग्रेस पार्टी गहलोत को लेकर अगले दो-तीन दिनों में बड़ा ऐलान कर सकती है। बता दें कि जब राहुल ने इस्तीफे की पेशकश की तो पार्टी में हड़कंप मच गया था। कांग्रेस के कई नेताओं ने उन्हें मनाने की कोशिश की, लेकिन राहुल नहीं माने। 25 मई को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की थी जिसे सर्वसम्मति से खारिज कर दिया गया था।

इतना ही नहीं पिछले दिनों राहुल गांधी ने लोकसभा में कांग्रेस का नेता बनने से भी इनकार कर दिया था। लिहाजा पार्टी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी को ये जिम्मेदारी सौंपी। अब राहुल के अध्यक्ष पद के चयन को लेकर दिए गए बयान से ये साफ हो गया है कि वो कोई भी पद लेने के मूड में फिलहाल नहीं हैं।