बैंक मैनेजर ने महिलाओं से की बदतमीजी

घरौंडा (राणा) - उपमंडल घरौंडा के गांव चौरा में महिलाओं ने पंजाब नेशनल बैंक की शाखा के मैन गेट का ताला जड़ दिया। सैंकडों महिलाओं ने रोष स्वरूप  बैंक मैनेजर व स्टाफ पर दुव्र्यवहार करने का आरोप लगाया है। बैंक से पैसे ट्रांसफर करने को लेकर विवाद   पनपा है। गुस्साएं ग्रामीण महिलाओं ने बैंक मैनेजर के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रोष व्यक्त किया। कई उपभोक्ताओं को बैंक के अंदर बन्द रहना पड़ा उन्हें भी बाहर नही निकलने दिया।

 गुरूवार को उपमंडल के गांव चौरा में पंजाब नेशनल बैंक की लघु शाखा में  सैंकडों  महिलाओं  ने बैंक के मैनेजर व स्टाफ के खिलाफ दुव्र्यवहार को लेकर नारेबाजी की ओर बैंक की शाखा के मेन गेट पर ताला जड़ दिया। महिलाओं ने बताया की इस बैंक में हरियाणा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत 13 गांवो से 1200 खाते बैंक की शाखा में खुले हुए है। गांवो की महिलाओं के लिए समूह में लोन स्वरूप पैसे वितरण किये जाते है। महिलाओं के खाते इसी योजना के तहत कुल तीन लाख पचास हजार रुपये ग्रुप अनुसार खाते में ट्रांसफर किये जाने थे लेकिन बैंक मैनेजर हरप्रीत ने पैसे ट्रांसफर करने में आनाकानी की ओर हमारे साथ दुव्र्यवहार किया।

आजीविका मिशन हेड सरिता,बैंक मित्रा सीमा,सकुंतला बस्सी अकबरपुर,मोनिका अराईपुरा,उषा सदरपुर,सरोज पीर बडौली, नेहा,बबली,अंजु भरतपुर ने बताया कि बैंक मैनेजर हमे कई कई घण्टे तक बिठाए रखते है। उन्होने बताया कि 13 गांवों से 1200 खाते इस बैंक में खुले हुए है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। समूह की हेड सरिता ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि गांवो की महिलाओं के लिए समूह में लोन स्वरूप पैसे वितरण किये जाते है। इसी के तहत कुल तीन लाख पचास हजार रुपये महिलाओं के खाते में खाते में ट्रांसफर किये जाने थे,लेकिन बैंक मैनेजर हरप्रीत इस पैसे ट्रांसफर करने में आनाकानी की ओर हमारे साथ दुव्र्यवहार किया है।

उन्होने बताया कि हमारे समूह में साफ लिखा हुआ है कि एक ग्राम संगठन सर्वसम्मति से रेजूलेशन पास करता है और चैक पर हस्ताक्षर हो जाते है तो समूह का कोई भी सदस्य रेजूलेशन बैंक में जाकर दे सकता है तो बैंक को पैसे ट्रांसफर करने पड़ते है लेकिन बैंक मैनेजर ने पैसे ट्रांसफर नही किए और बदतमिजी से बात करने लगे।