बैलन डी ओर 2020 भी चढ़ा कोरोना की बलि

पेरिस (उत्तम हिन्दू न्यूज): वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण इस वर्ष किसी भी खिलाड़ी को फुटबॉल जगत के सबसे बड़े खिताबों में से एक बैलन डी ओर से सम्मानित नहीं किया जाएगा। इस अवार्ड के आयोजक फ्रांस फुटबॉल ने सोमवार को यह जानकारी दी। वर्ष 1956 के बाद से यह पहला मौका है जब किसी भी फुटबॉल खिलाड़ी को इस प्रतिष्ठित खिताब से नवाजा नहीं जाएगा। यह पुरस्कार साल के सबसे सर्वश्रेष्ठ फुटबॉल खिलाड़ी को दिया जाता है और सबसे पहले यह पुरस्कार इंग्लैंड के खिलाड़ी स्टेनली मैथ्यूज को दिया गया था।

कोरोना वायरस महामारी के कारण इस वर्ष मार्च से सभी बड़े टूर्नामेंट और लीग स्थगित कर दिए गए थे। हालांकि बाद में जर्मन बुंदेसलीगा और स्पेन की ला लीगा का आयोजन दर्शकों के बिना पूरा कर लिया गया। फ्रांस फुटबॉल का कहना है कि ऐसी स्थिति में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के लिए वोट देना अनुचित होगा जब फ्रेंच लीग-1 सहित कुछ लीग ने अपने सीजन को जल्दी रद्द कर दिया था। उन्होंने यह भी कहा कि बिना दर्शकों के आयोजित किये गए टूर्नामेंटों के आधार पर सर्वश्रेष्ठ फुटबॉल खिलाड़ी का चयन करना उचित नहीं होगा।

पिछले वर्ष बैलन डी ओर अर्जेंटीना और बार्सिलोना के सुपर स्टार लियोनल मैसी को रिकॉर्ड छठी बार दिया गया था। वहीं वर्ष 2018 में शुरू किये गए महिला बैलन डी ओर को भी इस बार रद्द कर दिया गया है।