पेशी के लिए रामपुर भेजे गए आजम खां, बोले- जेल में मेरे साथ हो रहा आतंकवादी जैसा सलूक 

रामपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान, उनकी पत्नी और रामपुर से विधायक तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को सीतापुर जेल शिफ्ट में करने के बाद आज 29 फरवरी को उन्हें परिवार सहित कड़ी सुरक्षा के बीच पेशी के लिए रामपुर ले जाया गया। पुलिस व पीएसी के 40 जवान और महिला आरक्षी आजम की सुरक्षा में तैनात किए गए हैं। आजम खा और उनके परिवार की सुरक्षा के मद्देनजर गाड़ी को जेल परिसर के अंदर ले जाया गया, जहां से उन लोगों को गाड़ी में बैठाकर रामपुर के लिए रवाना किया गया। यहां उन्हें एडीजे-6 की कोर्ट में पेश किया जाएगा। पेशी के लिए सीतापुर जेल से निकलते वक्त सांसद आजम खां ने कहा कि जेल के भीतर मेरे साथ आतंकवादी जैसा सलूक किया जा रहा है। 

Image result for आजम खां

आजम खां ने बुधवार को कोर्ट में 17 मामलों में आत्मसमर्पण किया था। उसमें कोर्ट ने पांच मामलों में बुधवार को जमानत दे दी थी। आठ मामलों में गुरुवार को जमानत मिल गई। कोर्ट ने कुछ मामलों में पुलिस से रिपोर्ट तलब की थी। पुलिस की रिपोर्ट शनिवार को आने की संभावना है।

इसके साथ ही अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाण पत्र, दो पैन कार्ड और दो पासपोर्ट होने के आरोप में दर्ज मुकदमों की भी सुनवाई है। इन मुकदमों की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने शनिवार को आजम खां, तजीन फात्मा और अब्दुल्ला आजम को तलब किया था। कोर्ट ने आदेश दिया था कि शनिवार को सुनवाई के दौरान तीनों को पेश किया जाए।

सांसद आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम के दो पैन कार्ड और दो पासपोर्ट होने के मामले में दर्ज मुकदमे की भी आज सुनवाई होगी। ये मुकदमे भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने दर्ज कराए हैं। आकाश सक्सेना के वकील संदीप सक्सेना ने बताया कि शनिवार को एडीजे-6 की कोर्ट में अब्दुल्ला के जन्म प्रमाण पत्र, पैन कार्ड और पासपोर्ट मामले में सुनवाई है। 

आलियागंज के किसानों की जमीन कब्जाने के आरोप में दर्ज 26 मुकदमों में भी सांसद आजम खां की ओर से कोर्ट में आत्मसमर्पण का प्रार्थना पत्र दिया गया है, जिस पर आज सुनवाई होगी। शासकीय अधिवक्ता अजय तिवारी ने बताया कि सांसद आजम खां ने बुधवार को 17 मामलों में सरेंडर किया था। 

Image result for आजम खां

उनके खिलाफ जितने भी मामले में दर्ज है उसमें सरेंडर का आवेदन देना होगा। तिवारी ने बताया कि किसानों की जमीन कब्जाने के आरोप में दर्ज मुकदमों में हाईकोर्ट से गिरफ्तारी पर रोक के आदेश थे। सांसद ने दूसरे मामलों में कोर्ट में सरेंडर कर दिया है और वह न्यायिक अभिरक्षा में हैं। 

ऐसे में यह आदेश स्वत: समाप्त हो गया। इस वजह से इस मामले में अलग से सरेंडर का प्रार्थनापत्र दिया जाएगा। तिवारी ने बताया कि शनिवार को कई मामलों में पुलिस की रिपोर्ट भी आ सकती है।