जिला आयुर्वेद अस्पताल में भी आयुष्मान और हिमकेयर सुविधा

12:31 PM Jan 17, 2020 |

कुल्लू (उत्तम हिन्दू न्यूज): उपायुक्त डा. ऋचा वर्मा ने आयुर्वेद विभाग के अधिकारियों को पारंपरिक चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद, पंचकर्मा और योग को आम लोगों तक पहुंचाने तथा उन्हें इस चिकित्सा पद्धति के प्रति जागरुक करने के निर्देश दिए हैं। वीरवार को जिला आयुर्वेद अस्पताल की रोगी कल्याण समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए डा. ऋचा ने कहा कि आयुर्वेद और योग को अब वैश्विक मान्यता मिल रही है और हिमाचल प्रदेश में इनके विस्तार की काफी अच्छी संभावनाएं हैं। लेकिन, जागरुकता के अभाव में अधिकांश लोग आयुर्वेदिक चिकित्सा संस्थानों में मिल रही सुविधाओं का लाभ नहीं उठा रहे हैं। आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारियों को लोगों को जागरुक करने की दिशा में विशेष प्रयास करने चाहिए। 

जिला आयुर्वेद अस्पताल में विभिन्न सुविधाओं की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने बताया कि इस अस्पताल को आयुष्मान और हिम केयर योजना में भी शामिल कर लिया गया है। इन योजनाओं के पात्र लोग अब जिला आयुर्वेद अस्पताल में भी मुफ्त इलाज करवा सकते हैं। बैठक में समिति के सदस्यों ने गत वित्त वर्ष और चालू वित्त वर्ष के आय-व्यय के अलावा कई अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी विस्तार से चर्चा की। उपायुक्त ने बताया कि चालू वित्त वर्ष में अस्पताल की विभिन्न सुविधाओं के लिए रोगी कल्याण समिति के माध्यम से ग्यारह लाख रुपये से अधिक धनराशि खर्च की जाएगी। पिछले वर्ष समिति ने लगभग 9 लाख 75 हजार रुपये खर्च किए थे।