मोदी के कहने पर, कैप्टन ने विधानसभा में कृषि कानून पर नाटक रचा : मान

-3 महीने हो गए लेकिन विधानसभा से जो कानून पास हुआ उसका कोई अता-पता नहीं
चंडीगढ़ (विज):
आम आदमी पार्टी ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि विधानसभा से सर्वसम्मति से कृषि कानून पास पास न कर पाना और उसे राष्ट्रपति के पास न भेज पाना पंजाब सरकार की नाकामी है। ऐसा कैप्टन और राज्यपाल ने मिलकर प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री शाह के इशारे पर किया है। अब यह साबित हो गया है कि इतने दिनों से कैप्टन मोदी के साथ मिलकर कृषि कानून पर पंजाब के लोगों को गुमराह करने की साजिश रच रहे थे। ये बातें पार्टी के पंजाब अध्यक्ष सह संगरुर से सांसद भगवंत मान ने कही। उन्होंने कहा कि कृषि कानून पर मुख्यमंत्री अपनी नाकामी को छुपाने के लिए सिर्फ झूठ बोल रहे हैं और लगातार झूठे बयान देकर पंजाब के लोगों को गुमराह कर रहे हैं।

मान ने कहा कि मुख्यमंत्री ने विधानसभा में काले कृषि कानूनों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि इसके बारे मे राज्य के महाधिवक्ता से बात की है, लेकिन आश्चर्य की बात है इतने सारे वकीलों की फौज होते हुए भी एजी ने अभी तक कुछ भी नहीं किया है। 
मुख्यमंत्री पर किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए मान ने आगे कहा, मुख्यमंत्री अपने बेटे को ईडी से बचाने के लिए मोदी सरकार के साथ किसानों के हितो का समझौता कर लिया है और अब किसानों को गुमराह करने के लिए केन्द्र से वाद-विवाद करने का ड्रामा रच रहे हैं। 
मान ने कहा कि कृषि कानून पर विशेष सत्र से पहले किसी भी विधायक को रिजॉलुशन की कॉपी नहीं दी गई ताकि वे कूनून पर उचित चर्चा कर सके। ऐसा उन्होंने इसलिए किया क्योंकि उनकी पहले ही मोदी सरकार से डील हो चुकी थी। हमारे विधायकों ने रिजॉलुशन पास करने के तरीके के खिलाफ विधानसभा मे धरना भी दिया और उनके तरीके पर काफी सवाल किए, लेकिन कैप्टन ने अपने पुत्रमोह में हमारी एक भी बात नहीं सुनी।