मनरेगा की बकाया मजदूरी की राशि केन्द्र से जारी करवाने का प्रयास जारीः सिंहदेव

रायपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): छत्तीसगढ़ के पंचायत मंत्री टी.एस.सिंहदेव ने महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना(मनरेगा) के मजदूरों की राज्यभर में बकाया होने को स्वीकारते हुए आज कहा कि केन्द्र सरकार से राशि जारी करवाने का लगातार प्रयास किया जा रहा है। सिंहदेव ने आज प्रश्नोत्तरकाल में बसपा सदस्य केशव चन्द्रा के पूरक प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि राज्य में नई सरकार के गठन के बाद गत 04 जनवरी एवं 14 जनवरी को स्मरण पत्र बकाया मनरेगा मजदूरी की राशि जारी करने के सम्बन्ध में केन्द्र को भेजे गए है,इसके अलावा भी मंत्रालय से निरन्तर सम्पर्क कर राशि आवंटन की मांग की जा रही है।

बसपा सदस्य केशव चन्द्रा ने कहा कि मनरेगा में 41 लाख मजदूरो ने काम किया और उनकी 346 करोड़ की मजदूरी बकाया है। उन्होंने पूछा कि 15 दिन से ज्यादा मजदूरी बकाया होने पर उस पर नियमों के मुताबिक क्या ब्याज भी दी जायेगी।मंत्री ने कहा कि नियमों के अनुसार जो भी व्यवस्था होगी उसके अनुसार भुगतान होगा।वैसे केन्द्र से बिलम्ब से मजदूरी का भुगतान होने पर उनकी जानकारी के अनुसार ब्याज के भुगतान का नियम नही है।

मंत्री ने कहा कि मनरेगा की मजदूरी का भुगतान चार चार माह बाद होता रहा है,सरकार का प्रयास होगा कि जल्द से जल्द मजदूरी का भुगतान हो ।उसका फयास होगा कि 15 दिन से ज्यादा मजदूरी का बकाया नही रहे। उन्होंने कहा कि मनरेगा मांग आधारित योजना है, जहां से भी मांग आयेंगी वहां काम शुरू होगा।

Related Stories: