अमित शाह ने भी झाड़ा साध्वी प्रज्ञा के बयान से पल्ला, उठाया ये सख्त कदम

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि पार्टी नेता प्रज्ञा सिंह ठाकुर, अनंत कुमार हेगडे तथा नलीन कटील द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के बारे में दिये गये बयानों से पार्टी का कोई लेना देना नहीं है और इन बयानों को पार्टी की अनुशासन समिति के पास भेजा गया है।

शाह ने इन बयानों को सार्वजनिक जीवन की गरिमा और भाजपा की विचारधारा के विपरीत बताया है। उन्होंने ट्वीट किया, “विगत दो दिनों में अनंत कुमार हेगड़े, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और नलीन कटील के जो बयान आये हैं वे उनके निजी बयान हैं, उन बयानों से भारतीय जनता पार्टी का कोई संबंध नहीं है।”

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इन लोगों ने अपने बयान वापस ले लिये हैं और इनके लिए माफी भी मांगी है ,लेकिन ये सार्वजनिक जीवन तथा भाजपा की विचारधारा के विपरीत हैं और पार्टी ने इन्हें गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा कि तीनों के बयानों को पार्टी की अनुशासन समिति के पास भेजने का निर्णय लिया गया है। शाह ने कहा कि अनुशासन समिति तीनों नेताओं से जवाब मांग कर 10 दिन के अंदर पार्टी को रिपोर्ट अपनी सौंपेगी।