अजीत डोभाल ने गया में किया पितरों का पिंडदान

गया (उत्तम हिन्दू न्यूज) : देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने आज सुबह बिहार में गया शहर के विष्णुपद मंदिर के प्रांगण में अपने समस्त पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए पिंडदान किया।

शहर के प्रख्यात सिजुआर स्टेट के गयापाल पंडा द्वारा पिंडदान कर्मकांड को पूरा कराया गया। पंडित रामानुज पांडेय ने वैदिक रीति रिवाज से पिंडदान की प्रक्रिया को पूरा कराया। श्री डोभाल ने पिंडदान कर्मकांड पूर्ण करने के बाद मोक्षदायिनी अन्तःसलीला फल्गु नदी में पिंड को विसर्जन किया। इसके बाद वह माड़नपुर मुहल्ला पहुंचे, जहां उन्होंने वट वृक्ष अक्षयवट को साक्षी मानकर पिंडदान के कर्मकांडों का सुफल लिया। वह शनिवार देर रात गया पहुंचे थे। पिंडदान के दौरान उनके साथ उनकी पत्नी अनु डोभाल भी मौजूद थी। 

इस दौरान हालांकि मीडियाकर्मियों ने उनसे बात करनी चाही। लेकिन, उन्होंने केवल इतना ही कहा कि वह गया पहली बार नहीं आए हैं। इससे पहले भी वह गया आ चुके हैं। अजीत डोभाल के आगमन को लेकर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे। इसके बाद वह बोधगया के लिए रवाना हो गए। बोधगया स्थित विश्व धरोहर महाबोधि मंदिर में पूजा अर्चना एवं दर्शन करने के बाद भी वह विशेष विमान से गया अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा से दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

Related Stories: