भारतीय दुल्हन के बिना लौटी अफगानिस्तानी बारात, पढ़िए ये रोचक मामला

लखनऊ (उत्तम हिन्दू न्यूज) * आपने देश में ऐसे किस्से तो बहुत सुने होंगे जिसमें बारात को बिना दुल्हन के लौटना पड़ा हो। लेकिन यूपी में एक बेहद रोचक मामला सामने आया है। दरअसल, उत्तर प्रदेश के संतकबीर नगर की युवती अफगानिस्तान के एक युवक को दिल दे बैठी। दोनों फेसबुक के जरिए एक-दूसरे के संपर्क में आए थे। इसके बाद बात शदी तक पहुंची और दोनों तरफ के परिवारों ने भी सहमति दे दी। लेकिन शादी के दिन ऐन मौके पर अफगानी युवक को बिना दुल्हन ही मंडप से बारात वापस ले जानी पड़ी और इसकी वजह थी रिश्तेदारों द्वारा दखल देना। 

दरअसल एक साल पहले फेसबुक के जरिए 29 साल के फरीद उल रफ्तई संतकबीर नगर जिले के खलीलाबाद की एक लड़की के संपर्क में आए। प्यार में पड़ने के बाद फरीद और उस लड़की ने शादी करने का निर्णय लिया और इसके लिए परिजनों को मना भी लिया। इसके बाद शनिवार को फरीद उनके पिता मोहम्मद कादिर, मां अदिला रफ्तई, बहन नादिया, और कई रिश्तेदारों के साथ अफगानिस्तान और नीदरलैंड से भारत आए। सोमवार को उनका इस लड़की के साथ निकाह होना था लेकिन ये हो नहीं सका। दरअसल इस निकाह के दौरान लड़की के रिश्तेदारों ने आपत्ति जताई और इसका विरोध किया।

दरअसल, रिश्तेदार इस बात पर राजी नहीं थे कि लड़की शादी के बाद देश छोड़ कर बाहर जाए। रिश्तेदारों के इस दबाब के बाद लड़की के परिजनों को यह शादी रद्द करनी पड़ी। खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक इस घटना के बाद लड़की के पिता ने कहा कि वह चाहते हैं कि उनकी लड़की मेडिकल की पढ़ाई करे और डॉक्टर बने और अगर उसे देश छोड़ना पड़ा तो उसकी पढ़ाई पर असर पड़ेगा, इसी के चलते ये फैसला लिया गया।

Related Stories: