राजीव शुक्ला की अपनों को नसीहत,एक-दूसरे को नीचा दिखाने की हरकतें अब छोड़ दें

मंडी (पुंछी): 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारी सभी कार्यकर्ता और नेता आज से ही शुरू कर दें, अब छोटी-छोटी बातों के लिए आपस में ना उलझें और न ही तमाशा करें। यदि सभी कार्यकर्ता ऐसे ही अपने-अपने नेताओं की मंचों पर नारेबाजी करते रहेंगे और एक-दूसरे को नीचा दिखाने की हरकतें करते रहेंगे तो ऐसे सत्ता में वापसी मुश्किल है। एक-दूसरे के खिलाफ खबरें लगाना छोड़ें और कांग्रेस पार्टी की सत्ता वापसी के लिए आज से ही मन मुटाव भुलाकर एकजुट हो जाएं। यह बात कांग्रेस प्रभारी राजीव शुक्ला ने शनिवार को मंडी के बिपाशा सदन में आयोजित कांग्रेस पार्टी के राज्य स्तरीय किसान संवाद सम्मेलन में आए सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओ और नेताओं को सम्बोधित करते हुए कही। शुक्ला ने कहा कि मोदी उदघाटन करने में माहिर हैं जबकि उन्होंने अपने आप कोई भी चीज नहीें बनाई है।

उन्होंने कहा कि अटल टनल जिसका नाम रोहतांग टनल था यह कांग्रेस की सोच थी, सोनिया गांधी ने इसका शिलान्यास किया तो डा. मनमोहन सिंह ने इसके लिए बजट मुहैया करवाया। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को भी उद्घाटन वाले दिन टनल में घुसने नहीं दिया और अकेले ही जीप में बैठकर खाली सुरंग में हाथ हिलाते रहे। उन्होंने कहा कि किसान बिल ने किसानों की जिंदगी तबाह कर दी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनेगी तो सब्जियों को भी न्यूनतम समर्थन मूल्य के दायरे में लाया जाएगा। उन्होंने किसान बिल के विरोध में रैली निकालने के लिए विधायकों का आभार जताया।

इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि गरजते हुए कहा कि भाजपा ने जानबूझ कर अटल टनल के उद्घाटन में कांग्रेस के योगदान को पूरी तरह दरकिनार किया, जबकि भाजपा ही नहीं देश का बच्चा बच्चा जानता है कि इस टनल के लिए 1500 करोड़ का प्रावधान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने किया था और  टनल का शिलान्यास 2010 में कांग्रेस की वरिष्ठ नेता  सोनिया गांधी ने किया था लेकिन बड़े ही शर्म की बात है कि भाजपा ने उनके नाम की शिलान्यास पट्टिका गायब कर दी और इस टनल में जिन्होंने कोई योगदान नहीं दिया उनके नाम की पट्टिका वहा चिपका दी। मुकेश ने कहा कि कांग्रेस सता में आते ही सोनिया गांधी की पट्टिका फिर से लगाएंगी इससे पूर्व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसान विरोधी बिल पास कर किसानों के साथ धोखा किया है। हम इसका हर स्तर पर विरोध करेंगे। मंडी में कांग्रेस पार्टी के राज्य स्तरीय किसान संवाद सम्मेलन में किसानों के मुद्दों पर चर्चा करने की बजाए कांग्रेस के नेताओं ने भाजपा पर राजनीतिक हमला बोला और 2022 में कांग्रेस की सरकार बनाने का संकल्प लिया।