अब्दुल्ला परिवार देश को तोड़ृृना चाहता, तो भारत नहीं होता: फारूक अब्दुल्ला

श्रीनगर(उत्तम हिन्दू न्यूज)- जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि अगर वह और उनका परिवार देश को तोडना चाहता तो आज भारत होता ही नहीं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दरअसल रविवार को जम्मू-कश्मीर के कठुआ में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए अब्दुल्ला और मुफ़्ती परिवार पर देश को तोड़ने तथा जम्मू-कश्मीर की तीन पीढ़ियों को बर्बाद करने आरोप लगाया था जिसका जवाब देते हुए श्री अब्दुला ने कहा, “देश को तोड़ने का प्रयास मोदी कर रहे है न की हम। यह देश कभी नहीं टूटेगा।” श्रीनगर लाेकसभा सीट से उम्मीदवार श्री अब्दुल्ला ने यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, “नेशनल कॉन्फ्रेंस सबके अधिकार के लिए लड़ती है चाहे उनका धर्म कोइ भी हो। हम आगे भी लड़ेगें। यदि श्री मोदी देश को तोड़ने का प्रयास करते है तो भी वह सफल नहीं हो सकते। मैं यहां से उन्हें कहना चाहता हूं कि आप देश को तोड़ने की कोशिश करेंगे लेकिन यह देश नहीं टूटेगा।” उन्होंने प्रधानमंत्री के आरोपों का जवाब देते हुए कहा, “श्री मोदी ने अब्दुल्ला परिवार पर देश को तोड़ने का आरोप लगाया लेकिन अगर हम देश को तोडना चाहते तो आज भारत होता ही नहीं।” श्री अब्दुल्ला ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला करते हुए कहा कि हमें भाजपा से देशभक्ति का प्रमाणपत्र लेने की जरुरत नहीं है।  

Related Stories: