इटावा में जर्जर मकान की छत गिरने से मजदूर की मृत्यु

इटावा (उत्तम हिन्दू न्यूज): उत्तर प्रदेश में इटावा के शहर कोतवाली क्षेत्र में नये बस स्टैंड के पास स्थित खिड़किया मोहल्ले में तम्बाकू व्यापारी का पुराने जर्जर मकान की छत गिरने से एक मजदूर की मलबे में दबकर मृत्यु हो गई।

पुलिस सूत्रों ने सोमवार को यहां बताया कि बढ़पुरा क्षेत्र के नगलाअजीत गांव के रहने वाले विनोद कुमार जाटव (45) ठेके पर काम लेकर बिल्डिंग आदि तोड़ने का काम करता था। रविवार की सुबह वह इटावा नए बस स्टैंड के पास स्थित खिड़किया रतन चंदेला मोहल्ले में रहने वाले तम्बाकू व्यापारी सोने लाल के यहां काम के सिलसिले से आया हुआ था। जहां दोपहर करीब 12 बजे जब वह मकान की छत पर चढ़कर साइड देख रहा था तभी अचानक मकान का लेंटर भरभराकर गिर पड़ा। जिस कारण विनोद भी उसी के साथ नीचे आ गया और मलबे में दब गया। मकान मालिक व आसपास रहने वाले लोगों को जब घटना की जानकारी हुई तो आनन-फानन में दौड़कर सभी लोग मौके पर पहुंचे और मलबे में दबे मजदूर विनोद कुमार को बाहर निकालकर जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां उसकी हालत गंभीर होने पर डाक्टरों ने उसे सैफई के लिए रिफर कर दिया । सैफई ले जाते समय विनोद की रास्ते में मौत हो गई।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक के पुत्र ने आरोप लगाया कि तम्बाकू व्यापारी उसके पिता को काम कराने के लिए जबरन ले गए थे तभी यह हादसा हो गया। इसके चलते उसने थाना पुलिस को तम्बाकू व्यापारी के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है।