सीटी यूनिवर्सिटी के छात्र ने बनाया 3-डी प्रिंटिड सीड सोइंग रोबोट

लुधियाना (सचदेवा): सीटी यूनिवर्सिटी की 24 घंटे सात दिन चलने वाली रोबोटिक्स और ऑटोमेशन लैब के तहत एक और सफल प्रोजेक्ट बनाया गया है। सीड सोइंग रोबोट प्रोजैटक्ट को बी.टैक (रोबोटिक्स एंड एनिमेशन) के दूसरे साल के छात्र क्रिस्चैमंबर ट्रूमैन ने बनाया है ताकि किसानों की खेती में मदद की जा सके। प्रोजैक्ट के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए ट्रूमैन ने कहा कि सीड सोइंग रोबोट द्वारा किसी भी प्रकार की खेती की जा सकती है। इसको बेहद आसान तरीके से डिइन किया गया। बीज को जमीन में बोने वाले इस रोबोट में तीन व्यापक भाग होते है। पहले भाग में इलेक्ट्रॉनिक घटक होते हैं। रोबोट को नियंत्रित करने के लिए अरूडिनो उनो और मोटर शील्ड का उपयोग किया गया है। दूसरे भाग में मुख्य यांत्रिक घटक होते हैं जो रोबोट को खेत में ले जाने और बीज बोने के लिए तंत्र को अनुमति देते हैं।

सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा तीसरा भाग है। इस में सभी 3 डी प्रिंटेड पाट्र्स होते हैं। इस रोबोट की सबसे अनोखी बात यह है कि रोबोट के शरीर का अधिकांश भाग 3 डी प्रिंटेड है और बाकी शरीर बेकार पड़ी पीवीसी पाइपों से बनाया गया है। इस तरह आवश्यकता के अनुसार रोबोट को अनुकूलित करना बहुत आसान है और लागत भी बहुत कम है। एसोसिएट प्रोफैसर डॉ.हरमीत सिंह ने कहा कि बीज बोने वाले रोबोट की मुख्य विशेषता बीज बोने के लिए विकर्ण पैटर्न बनाना है। यह बढ़ती प्रक्रिया के दौरान प्रत्येक पौधे के बीच की दूरी को प्रबंधित करने में मदद करता है।

यह परियोजना वाई-फाई और ब्लूटूथ क्नेक्टिविटी का समर्थन करती है इसलिए यह किसान को रोबोट नियंत्रित करने में मदद करता है। सीटी यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ.हर्ष सदावर्ती ने कहा कि मैं टीम के प्रयासों की सराहना करता हूं और यह बात आप सब से साझा करना चाहता हूं कि सीटी यूनिवर्सिटी कृषि के लिए अधिक रोबोटो पर काम करता है। आगामी परियोजनाओं के लिए मैं अपनी टीम को शुभकामनाएं देता हूं।