मुआना गांव में नाबालिग लड़की को बालिका वधु बनने से बचाया

जींद (सन्नी मग्गू) - जिले में बाल विवाह का एक और मामला सामने आया। बाल विवाह निषेध अधिकारी कार्यालय की सतर्कता से नाबालिग शादी को रूकवा दिया गया। जिला महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी कार्यालय में महिला हैल्पलाईन से सूचना मिली थी कि जिले के मुआना गांव में एक नाबालिग लड़की की शादी हो रही है और लड़की की बारात गन्नौर जिला सोनीपत से आएगी।

इस पर कार्यवाही करते हुए सहायक बाल विवाह निषेध अधिकारी रवि लोहान, एएसआई राजबीर सिंह, महिला कांस्टेबल रेनू, एसपीओ बिजेंद्रकुमार के साथ मौके पर गांव में पहुंचे। इस पर लड़की के परिवार वालों से लडकी के जन्म से संबन्धित कागजात मांगे तो परिजनों ने पहले तो टाल मटोल करने की कोशिश की लेकिन जब मौके पर गांव के अन्य मौजिज व्यक्तियों को बुलाया गया तो लगभग दो घंटे के बाद जो सबूत दिखाए उसमें लड़की की उम्र 17 वर्ष मिली।

इस पर उसके परिजनों ने बताया कि उसके माता पिता अनपढ हैें और दुल्हे के पिता ज्यादा बीमार रहते हैं इसलिए उन्हें बाल विवाह कानून की कोई जानकारी नहीं है इसलिए वह गलती से ऐसा कर रहे थे। इस पर परिजनों को समझाया गया कि आपकी लड़की नाबालिग है इसलिए आप उसके बालिग होने तक का इंतजार करें ताकि कोई कानूनी अड़चन न आए। इसके बावजूद भी अगर आप नाबालिग लड़की की शादी करते हैं तो आप सभी के खिलाफ भी कानूनी कार्यवाही की जाएगी। इस पर परिवार सहमत हो गया तथा शादी को स्थगित कर दिया गया।