सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देने के लिए भारतीय सेना ने कुत्तों को दिया चकमा, पढ़ें रोचक मामला

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : सितंबर 2016 में भारतीय सेना ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए पाकिस्तान के घर में घुसकर आतंकी कैंपों को तबाह किया था। इस कदम ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया वहीं भारतीय सेना की वीरता की एक बार फिर जनता कायल हो गई थी। 

इस सर्जिकल स्ट्राइक में योगदान देने के लिए पूर्व नगरोटा कॉप्र्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल राजेंद्र निंबोरकर को सम्मानित करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में राजेंद्र निंबोरकर ने दिलचस्प वाकया सुनाते हुए कहा कि पाकिस्तान की सीमा में 15 किलोमीटर अंदर जाने के बाद भारतीय सेना ने तेंदुए के मल-मूत्र का इस्तेमाल किया था, ताकि कुत्तों को शांत रखा जाए। मल मूत्र को गांव के बाहर छिडक़ दिया गया, जिससे कुत्ते भौंके नहीं और सेना आसानी से सीमा पार कर सके। उन्होंने बताया कि सीमा पर आसपास के जंगलों में हमने देखा है कि तेंदुए अक्सर कुत्तों पर हमला करते हैं और इन हमलों से खुद को बचाने के लिए कुत्ते रात को बस्ती में ही रहते हैं। 
 

Related Stories: