Sunday, January 20, 2019 07:35 PM

हड़ताल पर निजी बस ऑपरेटर दोफाड़, दूसरे दिन भी थमे बसों के पहिये

शिमला (ऊषा शर्मा) : किराया बढोतरी सहित अन्य मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए निजी बस ऑपरेटर दोफाड़ हो गए हैं। हिमाचल प्रदेश निजी बस ऑपरेटर संघ के आह्वान पर की जा रही हड़ताल से शिमला शहरी निजी बस ऑपरेटर संघ ने किनारा कर लिया है और राजधानी शिमला में निजी बसें मंगलवार सुबह से चलना शुरू हो गई हैं। वहीं प्रदेश के अन्य जिलों में निजी बस संचालकों की हड़ताल जारी रही। इस कारण विभिन्न रूटों पर 3 हजार से अधिक बसें आज भी नहीं चलीं, जिसके कारण हजारों यात्री परेशान हो रहे हैं। हड़ताल से निपटने के लिए राज्य पथ परिवहन निगम द्वारा अतिरिक्त बसें विभिन्न रूटों पर भेजी जा रही हैं।

हालांकि शिमला शहर में निजी बसों के परिचालन से हालात सामान्य हो गए हैं। इससे पहले सोमवार देर शाम मुख्यमंत्री से आश्वासन मिलने पर निजी बस संचालकों ने हड़ताल खत्म करने का दावा किया था। लेकिन देर रात फिर समीकरण बदले और हड़ताल का आहवान करने वाली निजी बस ऑपरेटर संघ ने हड़ताल जारी रखने का निर्णय लिया। संघ के प्रदेश सचिव रमेश कमल ने बताया कि शिमला शहर को छोड़कर प्रदेश भर में निजी बसों की हड़ताल जारी है। मुख्यमंत्री के साथ कल देर शाम हुई बैठक में कुछ मांगों को लेकर सहमति नहीं बनी। अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के साथ मंडी में फिर बैठक की जाएगी।

वहीं शिमला शहरी निजी बस यूनियन के प्रधान कमल ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री ने उनकी मांगों को कैबिनट में ले जाने का भरोसा दिया है। ऐसे में जनहित को देखते हुए हमने हड़ताल से किनारा कर लिया है और शिमला शहर में बसों का परिचालन पहले की तरह जारी है। गौरतलब है कि डीजल में बढ़ोतरी के कारण निजी बस संचालक बस किराया 40 फीसदी बढाने की मांग कर रहे हैं। इनके दबाव पर सरकार ने बस किराया 18 से 22 फीसदी बढाने के संकेत दिए हैं।


 

देश की सबसे बड़ी और तेज WhatsApp News Service से जुड़ने के लिए हमारे नंब 7400043000 पर Missed Call दें। इस नंबर को Save करना मत भूलें।