फतेहवीर की मौत : प्रदेश में 45 खुले बोरवेल बंद किये गये

संगरूर/चंडीगढ़ (विज)- पंजाब के संगरूर जिले के भगवानपुरा में दो वर्षीय फतेहवीर की बोरवेल में गिरने से मौत की घटना के विरोध में आज संगरूर और बरनाला जिले बंद रहे जबकि घटना से सबक लेकर पिछले 24 घंटों में प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर 45 खुले बोरवेल बंद किये गये हैं।

संंगरूर में आज प्रदर्शनकारी सुबह छह बजे बड़ा चौक पर इकट्ठा हुए और बाद में जिला उपायुक्त के कार्यालय का घेराव किया। जिला उपायुक्त के कार्यालय व आवास पर कड़ी पुलिस व्यवस्था की गई थी। फतेहवीर की मौत से क्रुद्ध ग्रामीणों ने अंतिम अरदास के दिन किसी नेता को भगवानपुरा न आने देने की घोषणा भी की हुई है। फतेहवीर गुरुवार शाम खुले बोरवेल में गिरा था और 108 घंटे की मशक्कत के बाद बोरवेल से उसकी लाश बाहर निकाली जा सकी। 

इस बीच मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के राज्य में सभी खुले बोरवेल बंद करने के दिए आदेश के 24 घंटे में 45 खुले बोरवेल बंद किये गये। जिला उपायुक्तों ने दी अपनी रिपोर्ट में बताया है कि 26 बोरवेल फतेहगढ़ साहिब जिले में थे जबकि मानसा में आठ, पटियाला और कपूरथला जिलों में तीन-तीन, गुरदासपुर में दो और रोपड़ एवं होशियारपुर जिलों में एक-एक खुला बोरवेल बंद किया गया। रोपड़ में कुल 19 बोरवेल ढंके हुए नहीं पाये गये। इन्हें बंद करने की प्रक्रिया जारी है।