जियोफाइबर नेटवर्क से जुड़े पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 14 शहर

12:50 PM Aug 03, 2020 |

मेरठ (उत्तम हिन्दू न्यूज): पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ,आगरा, बरेली, अलीगढ़, सहरानपुर, मुरादाबाद और मथुरा समेत चौदह शहर जियोफाइबर ब्रॉडबैंड नेटवर्क से जुड़ गए हैं जिससे क्षेत्र के क्रिकेट सामान और तौलिया उद्योग के साथ ही भगवान श्रीकृष्ण के जन्मस्थल के पर्यटन को बड़े पैमाने पर फायदा होने की उम्मीद है। जियो फाइबर से जुड़ने वालों में मेरठ, आगरा, बरेली, अलीगढ़, सहरानपुर, मुरादाबाद, मथुरा के अलावा मोदीनगर बिजनौर, चंदौसी, चांदपुर, हापुड़, पिलखुआ और सिकंदराबाद भी शामिल हैं।

लॉकडाउन के बीच फाइबर आधारित वायर ब्रॉडबैंड की बढ़ती मांग को देखते हुए रिलायंस जियो ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहरों में जियोफाइबर ब्रॉडबैंड सेवा के विस्तार की योजना शुरू की है। चौदह प्रमुख शहरों को इस सेवा से जोड़ लिया गया है, जल्द ही राज्य के अन्य शहरों में भी इसे लॉन्च किया जाएगा।जियोफाइबर नेटवर्क पर इंटरनेट की अल्ट्रा-हाई-स्पीड के  साथ साथ, स्मार्ट फोन फिक्स्ड लाइन भी मिलती है। इस फिक्स्ड लाइन फोन से देश के किसी भी नेटवर्क पर कहीं से भी फ्री में कॉल की जा सकती है। ग्राहकों को इसका कोई भी अलग शुल्क नहीं देना होगा।

जियोफाइबर 100 एमबीपीएस से 1जीबी तक की डेटा स्पीड पेशकश करता है । इससे दुनिया में ख्याति प्राप्त मेरठ के क्रिकेट उद्योग और आगरा के पर्यटन उद्योग को सबसे अधिक लाभ मिलने की उम्मीद है। वहीं पिलखुआ के तौलिया व्यवसाय और मथुरा तीर्थ को भी इससे फायदा पहुंचेगा। अपनी तेज स्पीड की वजह से कॉर्पोरेट्स, मध्यम और लघु उद्योगों के साथ सरकारी ऑफिसों में यह पहली पंसद बन कर उभरा है।

केएमसी कैंसर अस्पताल मेरठ, प्रीमियम रेजिडेंसियल सोसाइटी गोल्डन एवेन्यू मेरठ, ग्रीन सिटी अलीगढ़ और मेगा सिटी बरेली जैसे अनेकों निजी और सरकारी टाउनशिप और प्रतिष्ठान जियोफाइबर से जुड़ चुके हैं। जियोफाइबर पर टॉप स्पीड, फिक्स्ड लाइन फोन और ओवर द टॉप एप्लिकेशन्स यानी ओटीटी ऐप्स जैसी ट्रिपल-प्ले-कॉम्बिनेशन सर्विस मिलती हैं। साथ ही मिलता है अल्ट्रा एचडी सेट टॉप बॉक्स, जिसकी मदद से ओटीटी एप्स का इस्तेमाल कर किसी भी सामान्य टीवी को स्मार्ट टीवी में बदला जा सकता है।

अमेज़ॅन प्राइम, ज़ी 5, सोनी लिव, यूट्यूब, वूट, डिजनी हॉटस्टार के साथ 350 से अधिक टीवी चैनल भी जियोफाइबर पर देखे जा सकते हैं। जियोफाइबर पर जियोमीट एप के जरिए मल्टीपार्टी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी की जा सकती है, जिस पर वर्चुअल बिजनेस, सामाजिक बैठकें और स्कूल कक्षाएं ली जा सकती हैं।