10 अल्ट्रासाउंड केन्द्रों को किया सील, 11 का पंजीकरण किया रद्द

कुरुक्षेत्र (दुग्गल) - उपायुक्त डा. एस एस फुलिया ने कहा कि धर्म नगरी कुरुक्षेत्र का सैक्स रेशो 952 तक पहुंचाने के लिए अब तक 120 लोगों को जेल में भेजा और कुल 36 एफआर आई दर्ज की गई है। इतना ही नहीं लिंग की जांच करने वाले 10 अल्ट्रासाउंड केंद्रों को सील करना पड़ा। इन तमाम प्रयासों के कारण कुरुक्षेत्र जिला सैक्स रेशो में 952 के साथ प्रदेश में दूसरे पायदान पर पहुंच गया है जबकि प्रथम स्थान पर 969 सैक्स रेशो के साथ जिला पंचकुला प्रथम स्थान पर है। अहम पहलू यह है कि इस जिला में कन्या भूण हत्या जैसे अपराधों में शामिल लोगों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

उपायुक्त डा. एस एस फुलिया ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ कुरुक्षेत्र जिला को प्रथम स्थान पर ले जाने की योजना पर चर्चा कर रहे थे। इससे पहले सिविल सर्जन डा.सुखवीर सिंह ने उपायुक्त डा, एस एस फुलिया के समक्ष मई माह की रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए बताया कि मई 2019 में आश्चर्यजनक परिणाम सामने आए है। इस माह में ग्रामीण क्षेत्र का लिगांनुपात 1156 व शहरी क्षेत्र में 1017 रहा। जबकि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र किरमच का मई माह में लिगांनुपात 4500 सबसे ज्यादा रहा। इसी तरह पिपली का 1111,खानपुर का 1333, बारना व कलसाना का 2000, डीग का 2200, ठोल का 2500, धुराला का 1333, दुधला, बाबैन व शाहबाद का 1000-1000 लिगांनुपात रहा।

उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र में नगरपालिका शाहबाद व थानेसर नप में लिगांनुपात क्रंमश 1107 व 1148 रहा है। उपायुक्त ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा की धरा पानीपत से देश व्यापी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरूआत की थी। इस अभियान से पहले कुरुक्षेत्र जिला की सैक्स रेशो के मामले के स्थिति काफी खराब थी। इसके बाद स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास विभाग,पुलिस विभाग के साथ साथ अन्य विभागों ने मिलकर काम किया और लगातार सार्थक परिणाम सामने आ रहे है। उन्होंने कहा कि मार्च माह तक जिला कुरुक्षेत्र का सैक्स रेशो 952 पर पहुंच गया है जबकि मार्च माह तक हरियाणा प्रदेश का सैक्स रेशो 923 रहा है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने संबधित विभागों के साथ मिलकर एक अप्रैल 2016 से लेकर अब तक 40 रेड की है और 75 जगहों का औचक निरीक्षण किया है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एमटीपी एक्ट के तहत 18 और पीसी पीएनडीटी एक्ट के तहत भी 18 प्राथमिकी दर्ज करवाई है।

 टीम ने सात रेड पंजाब, यूपी में भी की है। प्रशासन ने कन्या भूण की जांच करने वाले 11 संस्थाओं का पंजीकरण रद्द किया गया और 10 अल्ट्रासाउंड केंद्रों को सील किया गया है। उन्होंने कहा कि 15 सस्ंथाओं को कारण बताओं नोटिस जारी किए गए है और 120 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस जिला में सैक्स रेशो में लगातार सुधार करने के भरसक प्रयास किए जा रहे है।