रिपोर्ट में खुलासा-दिल टूटने से ज्यादा खतरनाक है नौकरी जाना

ब्लूमबर्ग (उत्तम हिन्दू न्यूज) : कहते हैं इश्क में दिल टूट जाए तो इंसान किसी काम का नहीं रहता है लेकिन एक सर्वे की रिपोर्ट कहती है कि दिल टूटने से भी घातक एक दर्द है। ये दर्द है नौकरी छूट जाने का। इस संबंध में तैयार एक रिव्यू रिपोर्ट कहती है कि नौकरी जाने के बाद इंसान की रातों की नींद भी उड़ जाती है। बॉस द्वारा बोले गए शब्दों से जब दिल टूटता है तो कई लोग उस दर्द से ताउम्र बाहर नहीं आ पाते। प्यार में टूटा दिल नौकरी से निकाले जाने पर टूटे दिल से जल्दी उबर आता है। रिव्यू रिपोर्ट के मुताबिक, जॉब से निकाले जाने का प्रभाव किसी व्यक्ति के मन-मस्तिष्क पर डिवॉर्स पाने से भी घातक होता है। रिसर्च पेपर पर यह रिव्यू यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट एंजिलिया और यूके गवर्नमेंट के एक इंडिपेंडेंट बॉडी सेटअप द्वारा किया गया। रिसर्च के रिव्यू के सेंटर पॉइंट में यह जानने की कोशिश रही कि व्यक्ति के जीवन में क्या चीज उसे सबसे अधिक सुख देती है। वॉट वक्र्स सेंटर फॉर वेलबीइंग नाम से की गई इस रिसर्च में मनुष्य की भावनाओं से जुड़ी कई अहम बातें सामने आईं। रिव्यू में सामने आया कि बेरोजगार व्यक्ति साल दर साल खुशियों से दूर होता चला जाता है। उनकी खुशी एक नई और परमानेंट जॉब पाने में छिपी होती है। नई जॉब में पहले से बेहतर सैलरी और पोस्ट उन्हें खुशी तो देती हैं, लेकिन वह भी नौकरी से निकाले जाने के उनके पुराने दर्द को पूरी तरह खत्म कर पाने में कारगर नहीं होती।